October 8, 2022

मीडिया माफिया जीतू सोनी से पूछताछ जारी

जीतू सोनी पर इंदौर के विभिन्न थानों में 60 से अधिक केस दर्ज हैं जिसमें पूछताछ जारी है

मानव तस्करी, गैंग रेप, धोखाधड़ी, धमकाने और लूट सहित अन्य गंभीर मामलों के आरोपी जीतू साेनी 16 जुलाई तक लसूड़िया पुलिस की रिमांड पर है। यहां सोनी पर तीन केस दर्ज है। आरोपी जीतू सोनी पर इंदौर के विभिन्न थानों में 64 केस दर्ज हैं जिसमें पूछताछ जारी है। पुलिस के अनुसार सोनी को 16 जुलाई को शाम 4 बजे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

आरोपी जीतू साेनी

एमआईजी पुलिस द्वारा रिमांड अवधि पूरी होने के बाद मंगलवार शाम को जज महेश कुमार झा की अदालत में पेश किया था। कोर्ट ने सोनी को न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए। इसी बीच लूसड़िया थाना पुलिस मौके पर पहुंची और कोर्ट को बताया कि फरियादी मो. उस्मान की शिकायत पर थाने में जीतू के खिलाफ भादवि की धारा 294, 506 और 384 के तहत केस दर्ज है। इस मामले में आरोपी से पूछताछ करनी है अत: उसका रिमांड सौंपा जाए। इस पर कोर्ट ने 16 जुलाई की शाम 4 बजे तक सोनी को रिमांड पर सौंप दिया।

28 जून को जीतू गुजरात से गिरफ्तार हुआ
होटल माय होम में 67 महिलाओं को बंधक बनाकर रखने के आरोपी जीतू उर्फ जितेंद्र सोनी को क्राइम ब्रांच ने गुजरात में अमरेली जिले के उसके पुश्तैनी गांव धारग्नि से 28 जून को अलसुबह 4 बजे गिरफ्तार किया था। क्राइम ब्रांच एएसपी राजेश दंडोतिया के मुताबिक, महेंद्र सोनी की गिरफ्तारी के बाद जीतू के छह ठिकानों की जानकारी मिली थी। चार ठिकानों पर 6 टीमों ने दबिश भी दी, लेकिन वह नहीं मिला। इस बीच पुलिस को खबर मिली कि रविवार को जीतू अपने पिता के पुण्यतिथि कार्यक्रम में पुश्तैनी गांव धारग्नि आने वाला है। इस पर पुलिस शनिवार रात ही टूरिस्ट बनकर गांव के मुहाने तैनात हो गई। तड़के 3.30 से 4 बजे के बीच जीतू गांव में आया। टीम ने उस घर को घेर लिया, जिसमें जीतू गया था। यहीं से गिरफ्तार कर उसे टीम इंदौर ले आई। बताते हैं कि जीतू कार्यक्रम अटेंड कर आधे घंटे में निकलने भी वाला था।

दिसंबर 2019 को पुलिस ने मारा था छापा
एक दिसंबर 2019 को पुलिस को सूचना मिली थी कि लोकस्वामी अखबार के मालिक जीतू सोनी और अन्य द्वारा शहर में बिना अनुमति माय होम होटल में डांस बार चलाया जा रहा है। जहां पर कई युवतियां बंधक होकर काम कर रही हैं। होटल में अवैध गतिविधियां भी संचालित की जा रही हैं। इस पर पुलिस और प्रशासन की संयुक्त टीम ने गीता भवन चौराहे के पास बने माय होम होटल में छापा मारा। होटल की तलाशी लेने पर छोटे-छोटे कमरों में 67 युवतियां मिलीं जो अन्य राज्यों की थी और काफी गरीब घरों से थीं। माय होम होटल के मालिक और संचालक द्वारा इन लड़कियों से नाच-गाना कराया जाता था। बाउंसर और अन्य व्यक्तियों के माध्मय से इन युवतियों को बंधक बनाकर उनका यौन शौषण भी किया जाता था।