October 4, 2022

रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को नहीं मिलेंगे बुकिंग चार्ट

  • भोपाल सहित 11 रेलवे स्टेशनों पर यात्रियों को नहीं मिलेंगे बुकिंग चार्ट

भोपाल, भोपाल रेल मंडल ट्रेनों के यात्री बुकिंग चार्ट नहीं छापेगा। ऐसा करने से रेलमंडल को 50 लाख रुपए की बचत होगी। डीआरएम उदय बोरवणकर की अनुमति मिलने के बाद रेल मंडल ने कागज रहित काम की तरफ कदम बढ़ा दिया है। भोपाल रेल मंडल के वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विजय प्रकाश ने पायलट प्रोजेक्ट के रूप में नई व्यवस्था लागू की है। अब यात्रियों को ऑनलाइन माध्यमों से पीएनआर के जरिए ट्रेन में अपने कोच बर्थ की जानकारी मिलेगी। वैसे भी जिन यात्रियों के टिकट कंफर्म होते हैं उनके टिकट पर कोच व बर्थ संख्या का पता चल जाता है। रेलवे की इस व्यवस्था से मंडल को ही हर साल 50 लाख रुपए की बचत होगी। अभी इस योजना को मंडल के भोपाल, हबीबगंज, संत नगर, बीना, इटारसी सहित करीब 11 स्टेशन के आरक्षण केंद्रों के 142 यात्री ट्रेनों के चार्ट बनाए जाते हैं।

मंडल से होकर गुजरने वाली सभी ट्रेनों का चार्ट मंडल के प्रमुख स्टेशनों भोपाल, हबीबगंज सहित सभी 11 स्टेशन पर इकाई के रूप में रखा जाता है। जिस कारण कागज लगते हैं, खर्च भी आता है और रिकार्ड रूम में चार्ट रखने के कारण मेन पावर भी लगता है। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विजय प्रकाश की पहल पर क्रिप्स सॉफ्टवेयर द्वारा मंडल के अंतर्गत इन 11 स्टेशनों के मुख्य आरक्षण पर्यवेक्षक को एक स्पेशल आईडी प्रदान की गई है। इसके अंतर्गत इन स्टेशनों पर साढ़े तीन वर्ष तक की अवधि के चार्ट को किसी भी समय प्रिंट किया जा सकता है।

बता दें कि मंडल के अंतर्गत इन 11 स्टेशनों पर करीब 142 गाड़ी के चार्ट को नियमित रूप से प्रिंट किया जाता है और रिकॉर्ड के रूप में 6 माह तक रखते हैं। क्रिप्स द्वारा स्पेशल आईडी प्रदान करने के पश्चात अब चार्ट को प्रिंट कर रिकॉर्ड के रूप में रखने की आवश्यकता नहीं होगी। जिस कारण कागज की बचत होगी।