October 5, 2022

भारत में सर्दी मेंऔर तेजी से पैर पसारेगा कोरोना संक्रमण

विश्वभर में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच भारत के लिए भयभीत करने वाली स्टडी सामने आई है। कोरोना वायरस से संबंधित स्टडी में कहा गया है कि सर्दी में देश में कोरोना के मामलों में तेजी आ सकती है। इसके अलावा 1 नवंबर 20 तक देश में कोरोना के एक करोड़ से ज्यादा केस हो सकते हैं। वहीं, मृतकों का आंकड़ा 5 लाख तक पहुंचने की आशंका जताई है।

आईआईटी भुवनेश्वर और एम्स भुवनेश्वर की संयुक्त स्टडी में कहा गया, ‘सर्दियों की शुरुआत से भारत के कोरोना के मामलों में वृद्धि देखी जा सकती है।’ स्टडी के अनुसार, तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की वृद्धि के बाद संक्रमण के मामलों में 0.99% की गिरावट आ सकती है। इसके अलावा मामलों के दोगुना होने का समय तकरीबन 1.13 दिन बढ़ सकता है। स्टडी में पाया गया है कि आर्द्रता में बढ़ोतरी से मामलों की संख्या में वृद्धि होती है, जबकि मामलों के दोगुना होने का समय लगभग 1.18 दिन घट जाता है। इससे मॉनसून में मामलों की तेजी की आशंका है और यह सर्दियों में भी तेजी से बढ़ सकता है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) की एक स्टडी आईआईटी एम्स की स्टडी को बल देती है। इस स्टडी में कोरोना के मामलों को लेकर कहा गया है कि एक सितंबर तक, देश में 35 लाख मामले हो जाएंगे। यह मौजूदा मामलों का साढ़े तीन गुना अधिक है। इस समय देश में रोजाना लगभग 30 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं। स्टडी के अनुसार, कुल संभावित मामलों में से 10 लाख केस एक्टिव केस होंगे, जबकि मरने वालों की संख्या 1.4 लाख हो सकती है।

  • 1 नवंबर 2020 में पार हो सकता है, 1 करोड़ तक का आंकड़ा

भारत में एक नवंबर तक कोरोना वायरस के मामलों की संख्या एक करोड़ के पार जा सकती है। एक नवंबर को 1.2 करोड़ कुल मरीज और पांच लाख मौतें हो सकती हैं। वहीं, एक जनवरी तक मृतकों की संख्या बढ़कर 10 लाख हो सकती है। स्टडी के मुताबिक, एक जनवरी को, देश में कोरोना वायरस के मामले 2.9 करोड़ हो सकते हैं।