October 4, 2022

एमपी बोर्ड एक बार फिर से परीक्षाएं आयोजित कराएगा

 मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (एमपी बोर्ड) एक बार फिर से परीक्षाएं आयोजित कराएगा। दरअसल कोरोना लॉकडाउन के कारण परीक्षा नहीं देने वाले 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों की परीक्षा आयोजित कराने का मंडल ने निर्णय लेते हुए 20 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन जमा करने को कहा है। इधर संक्रमण की वजह से हायर सेकंडरी, दृष्टिबाधित, मूक-बधिर (दिव्यांग) विद्यार्थियों के लिए शेष रह गए विषयों की परीक्षा 9 से 16 जून 2020 तक आयोजित की थी, जिसमें कोरोना के कारण कई परीक्षार्थी परीक्षा से वंचित रहे गए है। लेकिन जो छात्र परीक्षा से वंचित रह गए थे उन्हें आगे ली जाने वाली परीक्षा में शामिल होने के लिए कारण सहित उसका प्रमाण पत्र भी देना होगा।

परीक्षा से वंचितों की होगी विशेष परीक्षा

बोर्ड अब विशेष परीक्षा आयोजित करने की तैयारी में है, जिसके लिए ऐसे विद्यार्थियों से 14 से 20 जुलाई 2020 तक एमपी ऑनलाइन कियोस्क के माध्यम से आवेदन पत्र मांगे गए है। बताया जाता है कि आवेदन के साथ आवेदकों को वंचित रहने का उचित प्रमाण-पत्र भी प्रस्तुत करना अनिवार्य रहेगा। इसके लिए बोर्ड ने कुछ दिशा-निर्देश जारी किए गए है।

इन छात्रों को मिलेगा अवसर

  • परीक्षा के समय ऐसे छात्र जिनकी कोविड-19 रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।
  • परीक्षा समय में उपचार के बाद स्वस्थ हुए हो, पर क्वारंटाइन अवधि अपूर्ण रही है।
  • ऐसे छात्र जो स्वयं क्वारंटाइन हैं अथवा परिवार का कोई सदस्य पॉजिटिव आने के कारण क्वारंटाइन है तथा सम्बंधित छात्र भी उनके साथ क्वारंटाइन रहा है।
  • दृष्टिबाधित, मूक बधिर (दिव्यांग) छात्र स्वास्थ्य सुरक्षा कारणों से वंचित रह जाना आदि शामिल है।

इन प्रमाण-पत्रों को प्रस्तुत करना होगा

  • पॉजिटिव छात्र का डिस्चार्ज पत्र अथवा सिविल सर्जन/सीएमएचओ या बीएमओ द्वारा जारी प्रमाण-पत्र।
  • क्वारंटाइन विद्यार्थी को तहसीलदार या नायब तहसीलदार का प्रमाण-पत्र।
  • दृष्टिबाधित, मूक बधिर (दिव्यांग) छात्र के लिए स्वयं का घोषणा पत्र आदि।