October 2, 2022

मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का लखनऊ के मेदांता अस्पताल में निधन, सुबह 5:35 बजे ली अंतिम सांस

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन (85) का मंगलवार सुबह 5.30 बजे निधन हो गया। टंडन को 11 जून को सांस लेने में तकलीफ और बुखार के चलते लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार शाम अस्पताल की तरफ से जारी मेडिकल बुलेटिन में उनकी हालत क्रिटिकल बताई गई थी। आज शाम 4.30 बजे उनका लखनऊ में अंतिम संस्कार होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर दुख जताया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने राज्यपाल लालजी टंडन के निधन पर श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें भावनाओं के साथ याद किया। सीएम ने अपने ट्वीट में लिखा- श्रद्धेय श्री लालजी टंडन के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित करता हूँ। टंडन जी का मार्गदर्शन हम सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं को लंबे समय तक मिला। उन्होंने जनता और राष्ट्र की सेवा का एक अद्भुत उदाहरण पेश करते हुए अपनी नीतियों से पार्टी को भी सशक्त किया।

मध्यप्रदेश के राज्यपाल रहते हुए टंडनजी ने हमें सदैव सन्मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया। राष्ट्र के प्रति उनके प्रेम और प्रगति के लिए दिए गए योगदान को चिरकाल तक याद रखा जाएगा।

लालजी टंडन के बेटे आशुतोष टंडन ने सुबह ट्वीट कर उनके निधन की जानकारी दी

टंडन के बेटे आशुतोष टंडन ने सुबह 7 बजे ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- बाबूजी नहीं रहे।

उन्हें कानून की बेहतर समझ थी :- मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘लालजी टंडन समाज के लिए किए अपने कामों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे। उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूत करने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई। वे एक कुशल प्रशासक थे। कानूनों मामलों की उन्हें गहरी समझ थी। अटल बिहारी वाजपेयी के साथ वे लंबे समय तक और करीब से जुड़े रहे। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं।’’