October 5, 2022

केंद्र सरकार ने कहा N-95 मास्क से नहीं रुकता कोरोना वायरस

कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच अगर आप ये सोच रहे हैं कि N95 मास्क पहनकर आप इस संक्रमण से बच जाएंगे तो ऐसा नहीं है। केंद्र सरकार ने एन-95 मास्क को लेकर सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों को चिट्ठी लिखकर चेतावनी दी है कि लोग सांस लेने वाले एन-95 मास्क का इस्तेमाल ना करें।

सरकार ने कहा है कि ये मास्क वायरस को फैलने से बचाने के लिए नहीं है और इस्तेमाल करने वालों के लिए हानिकारक हो सकते हैं। सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी का पालन करने की सलाह दी है।

केंद्र सरकार ने कोरोना संकट के बीच एक और बड़ा कदम उठाया है। सरकार की ओर से सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को पत्र लिखकर लोगों को वॉल्व वाले एन-95 मास्क पहनने के खिलाफ चेतावनी जारी की गई है। इसमें कहा है कि इस मास्क से वायरस का प्रसार नहीं रुकता और यह कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए उठाए गए कदमों के ‘विपरीत’ है।

छेद वाले मास्क को लेकर सलाह

स्वास्थ्य मंत्रालय के स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक राजीव गर्ग ने राज्यों के स्वास्थ्य और मेडिकल शिक्षा के मुख्य सचिवों को पत्र लिखा है। इसमें कहा है कि, ऐसा देखा गया है कि जनता और स्वास्थ्य कर्मचारियों की ओर से एन-95 मास्क का गलत तरीके से इस्तेमाल किया जा रहा है, खासकर वो मास्क जिसमें छेद हैं।

महानिदेशक ने सलाह दी है कि घर पर बने मास्क का ज्यादा इस्तेमाल करें और स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध फेस मास्क को खरीद सकते हैं।

उन्होंने कहा कि ये लोगों की जानकारी में लाया जा रहा है कि छिद्रयुक्त एन-95 मास्क इस्तेमाल के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

अप्रैल में जारी की थी एडवाइजरी

अप्रैल में सरकार ने एक एडवाइजरी जारी कर कहा था कि घर से बाहर निकलने पर घर पर बने मास्क का इस्तेमाल करें ताकि कोरोना वायरस से बचा जा सके।