October 8, 2022

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने किया भोपाल में लॉकडाउन का विरोध, दी आंदोलन की चेतावनी

मसूद ने लॉकडाउन के निर्णय का विरोध करते हुए कहा कि वह इस संबंध में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से मिले थे। फोन पर बात की थी, उन्हें पत्र भी सौंपा था, लेकिन बिना किसी जनप्रतिनिधि से चर्चा किए बकरीद और रक्षाबंधन जैसे त्योहारों के बीच भोपाल में लॉकडाउन लागू कर दिया गया।

कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने भोपाल में लॉकडाउन का विरोध किया है और ​शिवराज सरकार के इस फैसले को हिटलरशाही करार दिया है। आरिफ मसूद का कहना है कि कोरोना का डर दिखाकर त्योहारों के समय बेवजह लॉकडाउन लगाना ठीक नहीं है। उन्होंने इस फैसले के खिलाफ आंदोलन करने की चेतावनी दी है। कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने एक वीडियो संदेश जारी कर आम लोगों से अपील की कि वे शिवराज सरकार के इस एकतरफा निर्णय का सोशल मीडिया पर विरोध करें।

मसूद ने लॉकडाउन के निर्णय का विरोध करते हुए कहा कि वह इस संबंध में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से मिले थे। फोन पर बात की थी, उन्हें पत्र भी सौंपा था, लेकिन बिना किसी जनप्रतिनिधि से चर्चा किए बकरीद और रक्षाबंधन जैसे त्योहारों के बीच भोपाल में लॉकडाउन लागू कर दिया गया। आरिफ मसूद ने कहा, ”पूरे प्रदेश में बकरीद मनेगी। कुर्बानी हर हाल में होगी। इस कुर्बानी को रोकने का सरकार ने जो प्रयास किया है उसकी मैं निंदा करता हूँ। यह हिटलरशाही है।”

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने 24 जुलाई से 3 अगस्त तक कम्प्लीट लॉकडाउन लागू करने का ऐलान किया है। इस संबंध में गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने स्वयं मीडिया को जानकारी दी। इस लॉकडाउन के बीच में ही बकरीद और रक्षा बंधन के त्योहार पड़ेंगे। राज्य सरकार और भोपाल प्रशासन ने लोगों से अपने घरों में रहकर ही त्योहार मनाने की अपील की है।