October 5, 2022

रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़े गए गांधी मेडिकल कॉलेज के डॉ मुरली लालवानी

  • डॉ. लालवानी ने यशपाल के साथ 2 अन्य पी.जी. छात्रों डॉ. अशोक यादव और डॉ. संजय जैन से भी यही मांग की थी।
  • HOD ने MD की परीक्षा पास कराने के लिए करीब 1,50,000 रुपए की डिमांड की थी।

भोपाल लोकायुक्त की टीम ने भोपाल स्थित गांधी मेडिकल कॉलेज के फॉरेंसिक मेडिसिन विभाग के एचओडी डॉ मुरली लालवानी को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। डॉ ललवानी ने ये रिश्वत अपने विभाग में स्टडी कर रहे पीजी स्टूडेंट से मांगी थी।

गांधी मेडिकल कॉलेज के फॉरेंसिक मेडिसिन विभाग में अध्ययनरत डॉ. यशपाल सिंह ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त से शिकायत की थी कि विभाग के एचओडी डॉ. मुरली लालवानी एमडी की परीक्षा पास कराने के एवज में डेढ लाख की रिश्वत मांग रहे हैं। इस शिकायत को एसपी लोकायुक्त ने  गंभीरता से लेते हुए पूरे मामले की प्राथमिक तौर पर जांच की। जांच में यह पाया गया कि शिकायत सही है, तो लोकायुक्त की टीम ने आरोपी डॉक्टर मुरली लालवानी को ट्रैप किया।

इसलिए मांगी थी डेढ़ लाख की रिश्वत

लालवानी ने एम.डी. फाइनल ईयर पास करने के एवज और पोस्ट मॉर्टम लीगल वर्क के लिए शासकीय भुगतान गृह के विभाग से फरियादी यशपाल के बैंक खाते में आए 1.5 लाख रुपए मांगे थे। यशपाल डॉ. लालवानी के बिहाफ पर पी.एम. एग्ज़ेमिनेशन करते हैं। 1.5 लाख रुपए नहीं देने पर डॉ. लालवानी ने यशपाल को फेल करने की धमकी दी थी। डॉ. मुरली लालवानी को यशपाल से 40000 रुपए रिश्वत लेते हुए HOD के कैबिन में लोकायुक्त टीम ने ट्रेप किया।

यशपाल के साथ-साथ 2 अन्य पी .जी.  छात्र डॉ. अशोक यादव और डॉ. संजय जैन ने भी डॉ. लालवानी पर रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है।