October 2, 2022

छत्तीसगढ़ में 5 अगस्त तक बढ सकता है लॉकडाउन, उत्तर छत्तीसगढ की सीमाएं सील

  • महासमुंद जिले से लगी ओडिशा सीमा पर फिलहाल किसी भी प्रकार की रोक-टोक नहीं है और वाहनों की आवाजाही यहां जारी है।

राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण का प्रसार थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर रोज पूरे राज्य में बडी संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं। पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश में कुल 307 नए कोरोना संक्रमित मरीजों की पहचान हुई है और इसी के साथ अब प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या बढकर 7489 हो गई है। तीन माह के लंबे लाॅकडाउन के बाद एक माह पूर्व अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हुई थी, लेकिन इसके बाद भी बडी संख्या में लोग संक्रमण का शिकार होते रहे। इसी के मद्​देनजर पिछले 22 जुलाई से राज्य में राजधानी रायपुर सहित कई जिला मुख्यालयों में दोबारा लॉकडाउन की प्रक्रिया शुरू की गई।

फिलहाल एक सप्ताह का लॉकडाउन लागू किया गया था, जिसकी समयावधि मंगलवार को पूरी हो रही है। राज्य में वर्तमान हालात को देखते हुए संभावना जताई जा रही है कि लॉकडाउन को फिलहाल 5 अगस्त तक बढाया जा सकता है।

Total Lockdown: Disolation In Ambikapur On The First Dayf Of ...
प्रतीकात्मक फ़ोटो

उत्तर छत्तीसगढ से लगी झारखंड, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश की सीमाओं को सील कर दिया गया है। राजनांदगांव जिले से लगी महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश की सीमाओं पर जांच चौकियां स्थापित हैं। महासमुंद जिले से लगी ओडिशा सीमा पर फिलहाल किसी भी प्रकार की रोक-टोक नहीं है और वाहनों की आवाजाही यहां जारी है।

रायपुर संभाग में इन जिलों में लॉकडाउन

संभाग मुख्यालय में लाॅकडाउन लागू होने के साथ बलौदाबाजार में भी लॉकडाउन घोषित किया गया था। इसके बाद महासमुंद जिले में भी 25 से 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू किया गया है। इसके अलावा गरियाबंद में भी लॉकडाउन की घोषणा की जा चुकी है। फिलहाल धमतरी जिला लॉकडाउन से मुक्त है।

सरगुजा संभाग में कोरिया लॉकडाउन मुक्त

सरहदी बलरामपुर जिले में भी कोरोना के कहर को देखते हुए आज रविवार की रात 12 बजे से आगामी 2 अगस्त तक का सम्पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है। बलरामपुर कलेक्टर के आदेश के मुताबिक, लॉकडाउन में जिले के पांच नगरीय निकाय और एक ब्लॉक मुख्यालय को शामिल किया गया है, लॉकडाउन के दौरान नगर की सभी सीमाओं को सील कर दिया जाएगा लेकिन इस दौरान मेडिकल जैसी अन्य जरूरी सेवाओं को चालू रखा जाएगा।

बलरामपुर जिले से तीन राज्यों की सीमाएं लगती है, जिसकी वजह से यहां अन्य प्रदेशों से लोगों का आना जाना लगा रहता है। दूसरे राज्यों से संक्रमण के प्रसार की आशंका को देखते हुए सीमाओं का पूरी तरह सील किया गया है। सूरजपुर जिले में भी आज से पूर्ण लॉकडाउन लागू है। कोरिया जिले में फिलहाल लॉकडाउन नहीं है। यहां सिर्फ चिरमिरी नगर निगम क्षेत्र में लॉकडाउन लागू है।

बस्तर संभाग में सुकमा को छोड सभी जगह लॉकडाउन

बस्तर संभाग मुख्यालय जगदपुर सहित संभाग के कोंडागांव, दंतेवाडा, कांकेर, बीजापुर में लॉकडाउन लागू है। यहां सुकमा जिले को अब तक लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है। बस्तर संभाग के अन्य सभी जिलों में 31 जुलाई तक लॉकडाउन लागू रहेगा। सुकमा अब तक सिर्फ फोर्स के जवान ही कोरोना से प्रभावित हुए हैं। सुकमा में पिछले 24 घंटों के अंदर फोर्स के और 9 जवान कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

कलेक्टर चंदन कुमार ने बताया कि यहां आम नागरिक इस बीमारी की चपेट में नहीं आए हैं। संक्रमण केवल फोर्स के कैंप तक ही सीमित है। कैंप को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है और जिले में अन्य क्षेत्रों में आम गतिविधियां अभी जारी हैं।

रक्षाबंधन के त्योहार की वजह से बढ सकती है बाजार में भीड

फिलहाल राज्य के कुछ जिलों को छोडकर अधिकांश में लॉकडाउन की स्थिति है। रायपुर में तत्कालीन आदेश के आधार पर 28 जुलाई तक लॉकडाउन लागू है, लेकिन हालात को देखते हुए कयास लगाए जा रहे हैं कि यह लॉकडाउन आगामी 5 अगस्त तक बढाया जा सकता है।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी इसे लेकर संकेत दे चुके हैं। वहीं रक्षाबंधन का त्योहार भी आने वाला है। आशंका है कि त्योहार के मद्​देनजर बाजार में भीड-भाड बढ सकती है, इसलिए भी लॉकडाउन को आगे बढाए जाने की संभावना दिख रही है।