October 5, 2022

12वीं कक्षा का रिजल्ट घोषित, 68.81% नियमित जबकि 28.70% प्राइवेट छात्रों का रिजल्ट पास हुए

मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल आज 3 बजे 12वीं का रिजल्ट घोषित हो गया है। 68.81% नियमित छात्र पास हुए, जबकि 28.70% प्राइवेट छात्रों का रिजल्ट रहा। पिछले वर्ष एमपी बोर्ड 12वीं का रिजल्ट 72.37 फीसदी रहा था। इस बार इसमें गिरावट आई है। हालांकि एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है। छात्राएं 73.40% पास हुईं जबकि 64.66% छात्र सफल रहे। बोर्ड के पीआरओ एसके चौरसिया ने बताया कि इस बार 8 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स परीक्षा में शामिल हुए हैं। रिजल्ट ऑनलाइन देखा जा सकेगा। लॉकडाउन के कारण कोई कार्यक्रम नहीं हो रहा है। छात्र 4 सरकारी वेबसाइटों के अलावा मोबाइल ऐप पर भी रिजल्ट देख सकते हैं।

सरकारी स्कूलों को 71.43% और प्राइवेट स्कूल का 64.93% रहा

एक बार फिर सरकारी स्कूलों का परिणाम बेहतर रहा है। इस बार शासकीय स्कूल में 71.43% और प्राइवेट स्कूल में 64.93% छात्र-छात्राएं पास हुए।

फ़ाइल फ़ोटो

12वीं के बचे पेपर दोबारा हुए थे

12वीं हायर सेकंडरी स्कूल के लिए परीक्षा के बाकी पेपरों की परीक्षा ली गई थी। ये परीक्षाएं 8 जून से 16 जून के बीच हुईं। हालांकि, इनमें भी शामिल नहीं हो पाने वाले छात्रों को एक और मौका दिया जाएगा। इनके लिए विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी।

30 साल में पहली बार दोनों रिजल्ट अलग-अलग

लॉकडाउन के कारण परीक्षाएं भी स्थगित कर दी थीं। इसमें 20 मार्च से 31 मार्च तक होने वाले सभी एग्जाम थे। 1 से 11 अप्रैल तक चलने वाली दिव्यांग छात्रों की परीक्षाएं भी रद्द कर दी गई। 30 साल में पहली बार 10वीं और 12वीं के रिजल्ट अलग-अलग घोषित किए जा रहे हैं।

मेधावी छात्रों के लिए लैपटॉप योजना फिर शुरू

मेधावी विद्यार्थियों के लिए लैपटॉप देने की योजना फिर शुरू हो गई है। 12वीं परीक्षा में टॉप करने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप दिए जाएंगे। उन्हें 25 हजार रुपए और सर्टिफिकेट भी दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अस्पताल में भर्ती होने के बाद भी काम कर रहे हैं। उन्होंने रविवार को समीक्षा बैठक के बाद इसकी घोषणा की। 2019-20 के लिए एमपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में टॉपर स्टूडेंट्स को योजना का लाभ मिलेगा। लैपटॉप प्राइवेट और नियमित दोनों तरह के छात्रों को दिए जाएंगे।