October 8, 2022

भोपाल में बढ़ सकता है लॉकडाउन, नरोत्तम मिश्रा ने कहा- लॉकडाउन आगे बढ़ाने के बारे में सोचेंगे

  • भोपाल में हर रोज रिकॉर्ड कोरोना मरीज मिल रहे, बुधवार को 246 संक्रमित मिले।
  • जेलों में नए कैदियों को बैरक में भेजे जाने से पहले अस्थायी सेंटर्स पर रखा जाएगा।

राजधानी में हर रोज रिकॉर्ड कोरोना मरीज मिल रहे हैं। यहां पर बुधवार को रिकॉर्ड 246 कोरोना संक्रमित मिले। भोपाल में लॉकडाउन के 5 दिन में 1042 संक्रमित मिले। हर रोज बढ़ रही संक्रमितों की संख्या को देखते हुए लॉकडाउन बढ़ाने की चर्चा शुरू हो गई है। इन चर्चाओं के बीच गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सरकार लॉकडाउन की तारीख आगे बढ़ाने के बजाय दूसरे विकल्पों पर भी विचार करेगी।

गृहमंत्री ने बुधवार को ट्वीट करके कहा- मुझे नहीं लगता कि लॉकडाउन की अवधि अब और आगे बढ़ाने की जरूरत पड़ेगी। लॉकडाउन की तारीख आगे बढ़ाने के बजाय सरकार दूसरे विकल्पों पर भी विचार करेगी। जब कोई और विकल्प कारगर नहीं लगेगा तभी लॉकडाउन आगे बढ़ाने के बारे में सोचेंगे।

कैदियों की कोरोना टेस्टिंग के बाद ही बैरकों में रखेंगे

मध्यप्रदेश की जेलों में नए कैदियों को बैरक में भेजे जाने से पहले अस्थायी सेंटर्स पर रखा जाएगा। कोरोना टेस्टिंग में निगेटिव पाए जाने पर ही उन्हें बैरक में भेजा जा सकेगा। रायसेन की बरेली उप जेल में एक साथ 67 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, इनमें 64 कैदी संक्रमित थे और 3 प्रहरी थे।

टोटल लॉकडाउन के 5 दिन में रिकॉर्ड 1042 संक्रमित

भोपाल में 8 दिन में रिकॉर्ड 1546 कोरोना के मरीज मिले हैं। इसमें बुधवार- 196, गुरुवार- 190, शुक्रवार- 145, शनिवार-221, रविवार- 199, सोमवार- 177, मंगलवार- 199 और बुधवार को 246 मरीज शामिल हैं। इसमें टोटल लॉकडाउन के 5 दिनों में ही 1042 केस मिले हैं। इसमें हर थाना क्षेत्र, कालोनी और इलाकों के मरीज शामिल हैं।