October 8, 2022

मेरे जीवन में डर नाम की काेई चीज नहीं, बिना डरे मंत्री पद, विधायकी और कांग्रेस छोड़ दी – सिलावट

जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट और उनकी पत्नी सुनीता कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। मंगलवार को भोपाल में अन्य नेताओं के साथ इनकी जांच रिपोर्ट आई। सिलावट ने दो दिन पहले सांवेर में चौपाल लगाई थी। इसमें खासी भीड़ थी। तब मीडिया ने सवाल किया था कि आपको कोरोना से डर लगता है या नहीं ? इस पर मंत्री ने कहा था कि अपने जीवन में डर नाम की कोई चीज नहीं है। भय नाम की कोई चीज नहीं है। जो मंत्री पद छोड़ दे, विधायक पद छोड़ दे, कांग्रेस छोड़ दे। वह डरता है क्या। हम पूरी तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं। कोराेना पॉजिटिव आने के बाद अब यह वीडियो शेयर किया जा रहा है।

सिलावट के पॉजिटिव आने पर सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि 25 जुलाई को मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद बाकी नेता क्वारैंटाइन हो गए थे, लेकिन सिलावट ने खुद को स्वस्थ बताकर न केवल बैठकें कीं, बल्कि सांवेर क्षेत्र के गांवों में जाकर करीब साढ़े तीन हजार लोगों से मुलाकात की। मंगलवार को भी वे सुबह कलेक्टरेट पहुंचे और वहां वर्चुअल बैठक की। कलेक्टर मनीष सिंह और मीडिया से चर्चा की। इससे पहले सांवेर क्षेत्र की चुनावी तैयारी में जुटे पूर्व सांसद और कांग्रेस नेता प्रेमचंद गुड्‌डू भी पॉजिटिव आए थे।

रिपोर्ट आने तक सक्रिय रहे सिलावट

  • 21 को सीएम से मिले सिलावट। सांवेर के लोगों को मिलवाया। मंत्री उषा ठाकुर, मालिनी गौड़, राजेश सोनकर साथ थे।
  • 23 – 24 को सांवेर का दौरा, 15 से ज्यादा गांव में चौपाल की।
  • 25 को डबल चौकी में बैठक की, 900 से ज्यादा लोग थे।
  • 26 को भाजपा कार्यालय में बैठक की। जयपालसिंह चावड़ा, सुदर्शन गुप्ता, रमेश मेंदोला, मधु वर्मा भी थे।
  • 28 को कलेक्टोरेट में कॉन्फ्रेंस की। कलेक्टर से चर्चा की। बाहर 20 पत्रकारों से बात की।

तीन दिन में ही क्वारैंटाइन पूरा

मंत्री अरविंद भदौरिया पॉजिटिव आए तो भाजपा जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर क्वारैंटाइन हुए। भोपाल में 21 व 22 को कुछ लोगों से मिले। मंगलवार को आपदा समिति की बैठक में पहुंच गए।

व्यापारियों से मिलीं, चलाया अभियान

  • 21 को लौटी विधायक मालिनी गौड़ 22 को व्यापारिक क्षेत्र में जागरूकता अभियान चलाया, कई व्यापारियों से मुलाकात की।
  • 25 को सीएम की रिपोर्ट आते ही क्वारैंटाइन हो गईं।

सीएम की रिपोर्ट के बाद हुईं क्वारैंटाइन

  • 21 को मुख्यमंत्री से मिलने के बाद मंत्री उषा ठाकुर दो-तीन दिन कार्यक्रमों व बैठकों में शामिल हुईं। 25 को सीएम की रिपोर्ट आने पर क्वारैंटाइन हुईं।