December 7, 2022

मध्यप्रदेश में 31 अगस्त तक स्कूल बंद रखने का आदेश

  • पिछले आदेश में 30 जुलाई तक सबकुछ बंद करने के आदेश थे।
  • इस बार 10वीं और 12वीं के रिजल्ट भी अलग-अलग जारी किए गए।

मध्य प्रदेश में प्राइवेट और सरकारी स्कूल 31 अगस्त तक बंद रहेंगे। इस संबंध में आदेश जारी हो गया है। केंद्र सरकार की अनलॉक-3 की गाइडलाइन में स्कूल-कॉलेज बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। इससे पहले 30 जुलाई तक बंद रखने के आदेश थे। कोरोना संकट को देखते हुए प्रदेश के उच्च शिक्षण संस्थानों, कॉलेज और यूनिवर्सिटी में शैक्षणिक कार्य पहले से ही बंद कर दिए गए हैं।

प्रदेश के सभी सरकारी और निजी स्कूल 31 अगस्त तक बंद रहेंगे। स्कूल शिक्षा विभाग ने गुरुवार को इस बारे में आदेश जारी कर दिए। विभाग के उपसचिव प्रमोद सिंह द्वारा जारी आदेश में कहा गया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर इन्हें पहले 30 जुलाई तक बंद रखे जाने के निर्देश दिए गए थे। इससे पहले इन्हें बंद करने के आदेश को 30 जून से बढ़ाकर 30 जुलाई कर दिया गया था।

As parents struggle to pay fees, low-cost schools fear closure ...
प्रतीकात्मक फ़ोटो

उच्च शिक्षा विभाग: परीक्षाएं ओपन बुक प्रणाली से होंगी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने दो दिन पहले कहा था कि कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत उच्च शिक्षा में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के स्वास्थ्य की सुरक्षा और उनके कैरियर, भविष्य को ध्यान में रखते हुए महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैं। स्नातक प्रथम, द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर द्वितीय सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं को गत वर्ष के परीक्षा परिणाम और वर्तमान सत्र के आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर आगामी कक्षा में प्रवेश दिया जाएगा।

इसी प्रकार स्नातक अंतिम वर्ष और स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के छात्र-छात्राओं के लिए कोरोना के संक्रमण से बचाव और शारीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए उनकी परीक्षाएं निवास में ही रहकर ओपन बुक प्रणाली से करवाई जाएंगी। विद्यार्थियों को जनरल प्रमोशन देने पर उनकी फाइनल डिग्री पर हमेशा सवाल उठाए जाते हैं, इसलिए ओपन बुक प्रणाली से परीक्षा लेने का निर्णय लिया गया है।

सितंबर में परीक्षा अक्टूबर में रिजल्ट आएंगे

शिवराज सिंह चौहान ने छात्र-छात्राओं से आह्वान किया कि सुनहरे भविष्य के लिए मन लगाकर पढ़ाई करें और कड़ी मेहनत करें। माता-पिता के साथ मध्यप्रदेश का भी गौरव बनो। स्नातक अंतिम वर्ष एवं स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा में 5.71 लाख छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। सितंबर में इनकी परीक्षाएं ली जाएंगी, जबकि अक्टूबर में इनके परिणाम आएंगे।