October 2, 2022

गहलोत खेमे के विधायक जयपुर के होटल से निकलकर जैसलमेर के लिए रवाना

  • गहलोत खेमे के विधायकों को अब 14 अगस्त तक होटल में रहना होगा, ईद-रक्षाबंधन वहीं मनाएंगे।
  • इस दौरान विधायक अपने रिश्तेदारों और करीबियों से मिल सकेंगे, राज्यपाल ने मुख्यमंत्री के कहने पर विधानसभा सत्र 14 अगस्त को बुलाया है।

राजस्थान के सियासी घमासान का शुक्रवार को 22वां दिन है। इस बीच, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खेमे के सभी विधायक जयपुर के फेयरमॉन्ट होटल से निकलकर प्लेन से जैसलमेर के लिए रवाना हो गए हैं। सभी विधायक 19 दिन से होटल में ठहरे थे।

जैसलमेर में ये कहां रुकेंगे इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। लेकिन इतना तय है कि वे यहां विधानसभा सत्र शुरू होने तक रह सकते हैं। राज्यपाल कलराज मिश्र ने 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र बुलाया है। उधर, भाजपा ने गहलोत सरकार पर हमला किया है। राजस्थान भाजपा प्रमुख सतीश पूनिया ने ट्वीट कर कहा कि अगर कांग्रेस सरकार को कोई खतरा नहीं है तो विधायकों को कैद क्यों किया जा रहा है।

गहलोत का भाजपा से सवाल

गहलोत ने कहा- अब विधायकों की कीमत अनलिमिटेड हो गई

सीएम गहलोत ने बागियों पर हमला करते हुए कहा- जो लोग गए हैं, पता नहीं उनमें से किस-किस ने पहली किश्त ले ली है। कइयों ने पहली किश्त नहीं ली है, उन्हें वापस आना चाहिए। जिस रात से विधानसभा सत्र की तारीख तय हुई, उसी रात से विधायकों के पास फोन आने लगे हैं, हॉर्स ट्रेडिंग के लिए विधायकों के ‘रेट’ भी बढ़ गए हैं। पहले 10, 15, 25 करोड़ की कीमत थी, अब अनलिमिटेड है। अमित शाह को चाहिए कि सरकार गिराने के इरादे छोड़ें।

सूत्रों के मुताबिक, पहली फ्लाइट से 53 विधायक जैसलमेर रवाना होंगे। मंत्री हरीश चौधरी ने कहा, ‘राजस्थान हमारा घर है। हम कहीं भी आ-जा सकते हैं।’ वहीं, विधायकों ने कहा कि हम राजस्थान के लोग राजस्थान में ही जा रहे हैं। पाकिस्तान की बात कहां से आ गई। पाकिस्तान को बीच में घसीटना भाजपा के लोगों का काम है।’ विधायक राकेश मीणा ने कहा, ‘राजस्थान की सरकार को कोई खतरा नहीं है। अमित शाह कितना भी जोर लग लें। किसी हालत में राजस्थान की सरकार गिरने वाली नहीं है।’