October 2, 2022

पुलिस की चौकसी के बावजूद जय श्रीराम के नारों से गूंजा भोपाल

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर भोपाल भी उल्लास और भक्ति में सराबोर है। रामधुन गूंज रही है और शहर भगवा रंग में रंग गया है। राम भक्तों ने घरों पर भगवा झंडे लगाए गए हैं और आंगन में रंगोली सजायी है।

शहर का अशोका गार्डन इलाका तो भगवा रंग में रंग गया दिखता है। यहां हर घर में भगवा झंडे लगाए गए हैं। रामभक्त राजेश शर्मा ने बताया कि राम मंदिर आंदोलन में इस इलाके के 40 युवक अयोध्या गए थे। लेकिन 10 युवक की अयोध्या पहुंच सके। बाकी युवकों को रास्ते में ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। कुछ दिन बाद जेल से उन्हें रिहा किया गया। उन्होंने कहा जेल से रिहा होने के उनके पास सबूत भी हैं।

कार सेवकों का जश्न

राजेश शर्मा ने बताया कि यह उनके और उनके साथी कारसेवकों के लिए बड़ा दिन है। जिस आंदोलन की शुरुआत सालों पहले की गई थी अब वह सपना पूरा हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस खुशी को मनाने के लिए अशोक गार्डन इलाके के 5000 से ज्यादा घरों पर भगवा झंडे लगाए गए हैं। घरों के सामने रंगोलियां बनाई गई हैं। मंदिरों में रामायण का पाठ कराया जा रहा है। साथ ही घरों के सामने दीपक से सजावट की गई है। कारसेवकों ने स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ घरों पर झंडे लगाए और राम जन्म मंदिर भूमि की खुशी में मिठाइयों भी बांटीं।

मंदिरों में राम धुन

शहर के मंदिरों में सुबह से ही रामायण का पाठ किया जा रहा है। हनुमान चालीसा पढ़ी जा रही है। राम धुन हर एक मंदिर में सुनाई दे रही है। कोरोना के कारण मंदिरों में सोशल डिस्टेंस का पालन किया जा रहा है। सीमित संख्या में ही मंदिरों में राम भक्त मौजूद हैं। इसके अलावा शहर के बड़े मंदिरों में स्थानीय समितियों की ओर से कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है। इन कार्यक्रम में भी सीमित लोगों को बुलाया गया है। यहां भी रामधन सुनाई दे रही है। पूरा शहर राममय हो गया है।

विश्व हिंदू परिषद ने मनाया उत्सव

बजरंग दल के पदाधिकारी धीरज चौहान ने बताया कि राम जन्मभूमि पूजन के लिए पुराने शहर स्थित विश्व हिंदू परिषद के कार्यालय को भी सजाया गया है। कार्यालय के सामने रंगोली बनाई गई है। राम का पाठ किया जा रहा है। उन्होंने बताया इस खुशी के लिए हमने मिठाइयां भी बांटी और दीप उत्सव मनाया। कोरोना के कारण उन्होंने बजरंग दल कार्यकर्ताओं को नहीं बुलाया है। सीमित संख्या में ही पदाधिकारियों को बुलाकर कार्यक्रम किया गया।