October 4, 2022

खरगोन पुलिस कर रही बंगाल पुलिस की तरह काम – कैलाश विजयवर्गीय

  • पुलिस कार्रवाई और मारपीट की घटना के विरोध में बाजार बंद, महेश्वर में भाजपा के पूर्व विधायक सहित 11 समर्थकों और खरगोन में आतिशबाजी करने वाले युवकों को पकडऩे से पुलिस कार्रवाई पर सवाल, शुरू हुई राजनीति।

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने खरगोन पुलिस की कार्यशौली पर सवाल उठाते हुए बंगाल पुलिस से तुलना की। विजयर्गीय ने ट्वीट में कहा कि खरगोन पुलिस बंगाल पुलिस जैसा आचरण कर रही है। उन्होंने प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा से पुलिस को समझाइश देने की अपील की। कैलाश ट्वीट पर कई लोगों ने रिट्वीट कर भड़ास निकाली और प्रशासनिक कार्रवाई की अलोचना की।

क्या है ट्वीट की वज़ह

अयोध्या राम मंदिर भूमिपूजन आयोजन को बुधवार को देशभर में उत्सव के रूप में मनाया गया। वहीं खरगोन और महेश्वर में दो अलग-अलग घटनाओं को लेकर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं। खरगोन में सराफा बाजार में कुछ युवा आतिशबाजी कर रहे थे, जहां पुलिस ने पहुंचकर उन्हें रोका और फिर तीन से चार लोगों को उठाकर थाने ले आई।

दूसरी घटना महेश्वर में की है। जहां हनुमान मंदिर में दर्शन और ध्वजा चढ़ाने जा रहे पूर्व विधायक राजकुमार मेव व समर्थकों पर धारा 188 के तहत केस दर्ज किया गया। इन दोनों घटनाओं के बाद पुलिस कार्रवाई को लेकर हिंदू संगठन और भाजपा नेताओं में खासी नाराजगी है।

वहीं खरगोन में बीती रात असामाजिक तत्वों द्वारा राह चलते हुए लोगों से मारपीट की घटना ने आग में घी डालने का काम किया। इसे लेकर बवाल मच गया। गुरुवार को खरगोन में व्यापारियों द्वारा प्रतिष्ठान बंद रखकर विरोध जताया गया। 

हिंदुस्तान के लिए उत्सव का दिन

महेश्वर के पूर्व विधायक राजकुमार मेव और समर्थकों पर कार्रवाई से पुलिस राजनीति निशाने पर आ गई। मेव ने कहा राम जन्म भूमि का उत्सव पूरे देश ने मनाया। मेरा भी संकल्प था कि मैं हनुमान मंदिर पर ध्वजा चड़ाऊ । मैं अकेला ही मंदिर के लिए निकला। 4-5 लोग साथ हो लिए ।

वहीं, पुलिस का कहना है कि धारा 144 में पांच से ज्यादा लोग इकठ्ठा नहीं हो सकते हैं। लेकिन मेव व समर्थकों ने रैली निकाली। जिसकी अनुमति नहीं थी। इसके बाद पुलिस ने मेव सहित बख्शीराम यादव, हरी अग्रवाल, रोहित जोशी, आशीष केवट, राजा सराफ, विनोद राजपूत, विकास सप्तऋषि, मयूर जैसवाल, दिलीप सोनी, शशांक जैसवाल के खिलाफ केस दर्ज कर लिया।

मारपीट और आगजनी की घटना, थाने पर लगी भीड़

इधर, खरगोन में बुधवार रात्रि में असामाजिक तत्वों द्वारा अलग-अलग क्षेत्र में बाइक पर निकल कर राह चलते लोगों के साथ मारपीट की। इस घटना में करीब आधा दर्जन लोगों को चोट आई। वहीं बीटीआई रोड क्षेत्र में घर के बाहर खड़ी कार में आग लगाकर जलाने का प्रयास किया। जिसके बाद बड़ी संख्या में लोग थाने पहुंचे और कार्रवाई की मांग की। हालांकि इस पूरे घटनाक्रम में पुलिस की तरफ से न तो कोई एफआईआर की गई और ना ही किसी की गिरफ्तारी।