October 5, 2022

खरगोन घटना पर अब गृहमंत्री का बयान बोले – दोषियों को बख़्शा नहीं जाएगा

  • अभिषेक गहलोत का भोपाल ट्रांसफर किया गया।

मध्यप्रदेश के खरगोन में बुधवार को श्रीराम जन्मभूमि पूजन के दौरान आतिशबाजी कर रहे युवकों से पुलिस ने मारपीट और अभद्रता की थी। इसके बाद रात में कीलदार लाठी से मारपीट कर 5 लोगों को घायल करने का मामला सामने आया। दाेनाें मामलाें के तूल पकड़ने के बाद शासन ने रात 10 बजे एसडीओपी ग्लेडविन ई कार और एसडीएम अभिषेक गेहलोत का भाेपाल तबादला कर दिया था। रात में हुई इस कार्रवाई को लेकर शुक्रवार को गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रारंभिक जांच में एसडीएम और एसडीओपी दोषी पाए गए। इसके बाद उन्हें तत्काल हटा दिया गया। मध्य प्रदेश में शांति और सौहाद्र का वातावरण बना रहे, यही हमारी पहली प्राथमिकमता है। इसलिए दोषी कोई भी हो उसे बख्शा नहीं जाएगा।

क्या है मामला

खरगोन में बुधवार को श्रीराम जन्मभूमि पूजन के दौरान सराफा क्षेत्र में कुछ युवक आतिशबाजी करने के लिए फटाखों की लड़ी बिछा रहे थे। इसी दौरान मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने युवकों से मारपीट की और थाने ले गए। उन्हें दो घंटे के हंगामे के बाद छोड़ा गया था। इसके बाद कुछ उपद्रवियों ने रात में कीलदार लाठी से मारपीट कर 5 लोगों को घायल कर दिया। मामले ने गुरुवार को तूल पकड़ लिया। शहर में सकल हिंदू समाज संगठन के आव्हान पर आधे से ज्यादा बाजार बंद रहे। शहर में रैली निकालकर पुलिस अफसरों और मारपीट के आरोपियों पर कार्रवाई की मांग की।

संगठन ने की कार्यवाही की मांग की

संगठन के पदाधिकारियों ने राज्यपाल के नाम कलेक्टर गोपालचंद्र को पत्र सौंपा है। इसमें आरोप लगाया कि सराफा बाजार में एसडीओपी ग्लेडविन ई कार और एसडीएम अभिषेक गेहलोत ने युवकों से आपत्तिजनक शब्दों का उपयोग और मारपीट की। उनके इसी गलत व्यवहार के कारण रात 10 बजे असामाजिक तत्वों को बल मिला। इसके बाद उन्होंने पुजारी सहित 5 से ज्यादा लोगों पर हमला कर दिया। जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई और बदमाशों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो आंदोलन होगा। रात की घटनाओं के बाद देर रात बीटीआई रोड इलाके में भाजपा नेता की कार में आगजनी की घटना भी हुई।

सांसद ने भो कहा- कार्यवाही हो

सांसद गजेंद्रसिंह पटेल ने ट्वीट कर पुलिस के व्यवहार को क्रूरतापूर्ण और अनुचित बताया है। उन्होंने सीएम और गृहमंत्री से संबंधित पुलिसकर्मियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की। सांसद गजेंद्र पटेल ने गुरुवार को दोपहर 3.30 बजे सर्किट हाउस से गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा से फोन पर चर्चा की। इसमें अफसरों पर कार्रवाई के साथ ही आरोपियों को गिरफ्तारी की मांग की। गृहमंत्री ने कार्रवाई का आश्वासन दिया।