October 4, 2022

ग्वालियर में झमाझम बारिश से सड़कें लबालब, एक घंटे में एक इंच से ज्यादा बारिश

  • ग्वालियर में नदी गेट पर तो कमर से ऊपर पानी भर गया, जिससे लोगों को निकलने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

बारिश ने 6 दिन बाद फिर से शहर को तर कर दिया। करीब एक घंटे तक झमाझम बारिश हुई। बारिश से शहर की सड़कों पर पानी भर गया। तेज बारिश से कई लोगों के घरों में भी पानी घुस गया। वहीं कई जगहों पर बिजली की लाइनों में भी फॉल्ट आ गया। हालांकि बारिश ने लोगों को गर्मी से बड़ी राहत दी। बंगाल की खाड़ी का निम्न दाब का क्षेत्र उत्तर पूर्व मध्य प्रदेश तक आते-आते कमजोर पड़ गया, लेकिन यह मानसून ट्रफ लाइन के साथ मर्ज हो गया। 

मानसून ट्रफ लाइन के साथ सिस्टम के मर्ज होने से शहर में बरसने वाले बादल मेहरबान हो गए। मंगलवार दोपहर में शहरवासियों को उमस भरी गर्मी का सामना करना पड़ा, लेकिन देर शाम शहर के ऊपर काली घटाएं छा गईं और तेज हवा के साथ करीब एक घंटे तक झमाझम बारिश हुई। जिससे नाले व नालियां उफान पर आ गए वहीं बालाजीपुरम में लोगों के घरों में पानी भर गया। नदी गेट पर तो कमर से ऊपर पानी भर गया, जिससे लोगों को निकलने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में मध्यम बारिश के आसार जताए हैं।

बुलाना पड़ी फायर ब्रिगेड

तेज बारिश के कारण गड्ढा वाला मोहल्ला, डलिया वाला मोहल्ला, कोटेश्वर मंदिर के पास व शब्दप्रताप आश्रम पर लोगों के घरों में पानी घुस गया। जिसकी लोगों ने फायर ब्रिगेड से शिकायत की। इसके बाद फायर ब्रिगेड की टीम ने पानी निकालने की व्यवस्था की।

बारिश का पानी निकालने लगानी पड़ी मोटर

चेतकपुरी, माधव नगर गेट पर भी पानी भर गया। यहां पानी भरने की वजह से वाहन रेंगते हुए निकले, जिससे वाहनों की लंबी कतार लग गई। वहीं विनयनगर का नाला ओवरफ्लो हो गया। रॉक्सी पुल के नीचे पानी भरने से रास्ता जाम हो गया। नदी गेट पर पानी ज्यादा होने से लोगों का निकलना बंद हो गया, जिससे जाम की स्थित बन गई और लोगों को रास्ता बदलना पड़ा। सिटी सेंटर स्थित बीएसएनएल ऑफिस के पास भी सड़कों पर पानी भर गया।