October 5, 2022

ग्वालियर में प्रबंधन की लापरवाही आई सामने, फटी हुई पीपीई किट में भेज दिए कोरोना संक्रमितों के शव

मंगलवार काे काेराेना के कारण मृत हुए दाे मरीजाें के शव मुक्तिधाम भेजने में जेएएच प्रबंधन की लापरवाही सामने आई। दोनों शव बिना बॉडी कवर के फटी हुई पीपीई किट में रखकर लक्ष्मीगंज भेजे गए। विद्युत शवदाहगृह में फटी पीपीई किट में से एक शव बाहर निकलता देखकर नगर निगम के अधिकारियों ने आपत्ति की।

निगम के उपायुक्त अतिबल सिंह यादव और विद्युत शवदाह गृह के नोडल अधिकारी रामबाबू दिनकर ने कहा कि कोविड नियमों के तहत बॉडी कवर में शव पूरी तरह बंद होना चाहिए। अगर फटी हुई पीपीई किट में कोविड-19 से संक्रमित का शव अंतिम संस्कार के लिए आएगी तो हम उसे वापस लौटा देंगे। मामले में जेएएच के अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ का कहना है कि मामले में जांच करने के बाद कार्रवाई करेंगे।

एडीएम और एएसआई सहित 6 पुलिसकर्मी निकले संक्रमित

मंगलवार को जिले के एक एडीएम भी काेरोना संक्रमित निकले हैं। उन्हें बीते रोज बुखार आया था। डीआरपी लाइन के दो, इंदरगंज थाना, गोले का मंदिर थाना, ग्वालियर थाना और थाटीपुर थाने के एक-एक पुलिसकर्मी सहित 5 पुलिसकर्मी पॉजिटिव आए हैं। इसी तरह एसपी कार्यालय में पदस्थ 42 वर्षीय एएसआई और मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती सेना के 7 जवान भी 7 संक्रमित निकले हैं।

किलागेट निवासी 37 वर्षीय महिला और उनकी बेटी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। दोनों को खाने का स्वाद नहीं आ रहा था। माहौर विहार में युवती, ललितपुर कॉलानी में 75 वर्षीय वृद्ध, सुभाष नगर के 59 वर्षीय वृद्ध भी संक्रमित निकले हैं।