October 5, 2022

मध्यप्रदेश में अक्टूबर में हो सकते हैं चुनाव, कल से भाजपा का ग्वालियर-चंबल में डेरा

मध्य प्रदेश की 27 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव का बिगलु बजने को है। अक्टूबर में चुनाव कराने का चुनाव आयोग से संकेत मिलते ही कांग्रेस-बीजेपी दोनों मिशन 27 में जुट गयी हैं। बीजेपी कल यानि 22 अगस्त से ग्वालियर-चंबल में डेरा डालने जा रही है वहीं कांग्रेस 27 को अपना ड्राफ्ट फायनल करेगी। चुनाव आयोग ने संकेत दे दिया है कि कोविड-19 के संकट के बीच अक्टूबर में मध्य प्रदेश की 27 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव कराए जा सकते हैं।

कोरोना संक्रमण के दौर में उससे बचाव के लिए चुनाव आयोग अगले हफ्ते तक कोविड-19 प्रोटो काल से जुड़ी गाइड लाइन जारी करेगा। इसमें सबसे पहले बूथ बढ़ाए जाएंगे। सोशल डिस्टेंस के कारण ऐसा करना ज़रूरी है। चुनाव आयोग से इशारा मिलते ही बीजेपी और कांग्रेस ने मिशन 27 पर काम तेज कर दिया है। कांग्रेस ने 27 अगस्त को अपनी बड़ी बैठक बुलाई है।

प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ की अध्यक्षता में होने वाली बैठक में सभी 27 विधानसभा सीटों के चुनाव प्रभारी, सह प्रभारी और पदाधिकारियों को बुलाया गया है। बैठक में उपचुनाव की रणनीति के फाइनल ड्राफ्ट पर मंथन होगा। अब तक विधानसभा वार रणनीति तय कर रहे कमलनाथ 27 सीटों के लिए पार्टी की रणनीति को फाइनल रूप देंगे।

फायनल ड्राफ्ट पर चर्चा

पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह ने कहा है कमलनाथ पार्टी प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते संगठन को मजबूत बनाने और उस चुनाव में पार्टी की जीत तय करने के लिए मंथन कर रहे हैं। इसी के तहत 27 अगस्त को होने वाली बैठक में उपचुनाव के फाइनल ड्राफ्ट पर चर्चा होगी।

जीत और विकास का तंत्र-मंत्र

दूसरी तरफ बीजेपी ने भी गणेश चतुर्थी पर जीत के मंत्र के जाप की तैयारी कर ली है। सीएम शिवराज, प्रदेश अध्यक्ष वी डी शर्मा से लेकर ज्योतिरादित्य सिंधिया और ग्वालियर चंबल इलाके के बड़े नेता 22 से 24 अगस्त तक ग्वालियर में डेरा डालकर पार्टी की चुनावी रणनीति फाइनल करेंगे। विधानसभा वार बैठक करने के साथ बीजेपी यहां पर बड़ा सदस्यता अभियान चलाएगी। ग्वालियर चंबल संभाग में बीजेपी की सक्रियता पर बीजेपी प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने कहा, जीत और विकास के तंत्र मंत्र के साथ भाजपा ग्वालियर में उपचुनाव का श्रीगणेश करेगी।

बड़ी बैठक

प्रदेश में कोरोना संकट काल के कारण उप चुनाव अब तक टलते जा रहे थे। अब तमाम शंकाओं और आशंकाओं के बीच जैसे ही चुनाव आयोग ने चुनाव कराने का संकेत दिया, बीजेपी और कांग्रेस ने उपचुनाव को लेकर कमर कसना शुरू कर दिया। बीते कुछ दिनों में होने वाले कमरा बंद बैठकों और अब बड़ी बैठकों और बड़े आयोजनों पर सबकी निगाहें आ टिकी हैं। यही कारण है कि बीजेपी जहां 22 अगस्त से अपने चुनाव अभियान का श्रीगणेश करने जा रही है तो वहीं कांग्रेस 27 अगस्त को पार्टी की बड़ी बैठक कर उप चुनाव का शंखनाद करने की तैयारी में है।