October 2, 2022

विधायक रमेश मेंदोला के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक – 2 में बनाया गया गणेश पांडाल, सियासत गरमाई

मध्य प्रदेश के इंदौर में धार्मिक आयोजन के चलते कांग्रेस और भाजपा दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए हैं। देशभर में कोरोना काल के कारण धार्मिक आयोजनों पर पाबंदी है। विधायक रमेश मेंदोला के विधानसभा क्षेत्र क्रमांक – 2 में बनाए गए बड़े गणेश पांडाल पर विवाद उपज गया है। पांडाल लगाए जाने को लेकर कांग्रेस ने विरोध जताया है। कांग्रेस अध्यक्ष और कांग्रेस विधायक ने मामले को लेकर पुलिस-प्रशासन पर निशाना साधा है। उनका कहना है कि कि मनाही के बाद भी क्षेत्र क्रमांक दो में कोई जनप्रतिनिधि मनमानी कैसे कर सकता हैा। उनका कहना है कि भाजपा अब गलत राजनीति कर रही है। वह लोगों के हितों का ध्यान नहीं रख रही है। 

विधायक संजय शुक्ला ने कहा कि हमें पता चला है कि विधानसभा -2 में भव्य गणेश पंडाल बनाया गया है और यहां कार्यक्रम होने जा रहे हैं। मेरी शासन-प्रशासन ने यही मांग है कि आयोजकों पर कार्रवाई की जाए। हम धर्म के नाम पर राजनीति नहीं करना चाहते, लेकिन इंदौर में हजारों जगह पांडाल बनाकर गणेश आराधना की जाती है। इस बार जब सब जगह पांडाल बनाने की मनाही है तो फिर नंदा नगर में क्यों पंडाल बनाने दिया जा रहा है। यदि वहां पांडाल तैयार हो रहा है तो फिर पूरे शहर को इसकी छूट मिले।  

संजय शुक्ला ने कहा कि भाजपा की सरकार है, उनके विधायक को उनकी सुनना चाहिए। इंदौर का सबसे बड़ा मंदिर हमने बनवाया और हम 40 साल से वहां पूजा करते आ रहे हैं। इस बार हम वहां छोटे से गणेश जी बिठाकर बस आरती करेंगे। बाकी सभी आयोजनों को कैंसिल कर दिया गया है। यहां तो पांडाल लगाए जा रहे हैं, माेदी जी से कहना चाहूंगा कि आपकी ही दोनों जगह सरकार है, आपके ही विधायक हैं, उन पर कार्रवाई करें। पांडाल नहीं हटने पर कड़ा विरोध जताएंगे।

शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने कहा कि आपदा समूह की बैठक में यह निर्णय लिया गया था कि कहीं भी सार्वजनिक पांडाल नहीं लगेंगे, ना ही अनंत चौदस के दिन झांकियां निकलेंगी। उस कमेटी में खुद विधायक मौजूद थे। अब ऐसा क्या हो गया कि पूरे इंदौर में कहीं भी पांडाल नहीं लग रहा है और आप वहां पांडाल लगा रहे हो। प्रशासन से हम मांग करते हैं कि या तो उन पर कार्रवाई करें, या फिर पूरे इंदौर में पांडाल को लगने दिया जाए।