April 15, 2024

नर्मदा, बेतवा, ताप्ती व चंबल समेत कई प्रमुख नदियां उफान पर

  • दतिया-डबरा में सिंध के किनारे बसे गांवों में अलर्ट; रायसेन में बारिश से जबलपुर-जयपुर मार्ग बंद।
  • श्योपुर-बारां मार्ग पर कुहांजापुर पुल 3 फीट तक पानी में समा गया है।

रविवार काे भी प्रदेश में कहीं तेज ताे कहीं रिमझिम बारिश का दाैर जारी रहा। प्रमुख नदियों में अब भी उफान की स्थिति है। गुना व श्योपुर में पार्वती नदी में उफान से श्योपुर-कोटा को जोड़ने वाला खातौली पुल 12 फीट तक डूब गया। वहीं श्योपुर-बारां मार्ग पर कुहांजापुर पुल 3 फीट तक पानी में समा गया है। इससे श्योपुर का राजस्थान के कोटा व बारां से संपर्क कट गया है। पार्वती नदी में पानी बढ़ने से कई गांवों पर खतरा मंडराने लगा है। रायसेन में बेतवा उफान पर है। इससे जबलपुर-जयपुर मार्ग बंद हो गया।

बुरहानपुर में ताप्ती नदी के सभी घाट डूबे हुए हैं। हाेशंगाबाद में सेठानीघाट पर नर्मदा का जलस्तर 961 फीट से रविवार शाम 7 बजे 950 फीट पर आ गया है। खतरे का निशान 967 फीट है। इंदौर में जरूरत के 34 इंच पानी का कोटा इसी महीने पूरा होने के आसार हैं। 23 घंटों में हुई 12.5 की बारिश ने तालाबों में सालभर के पानी का इंतजाम कर दिया है।

राजगढ़. मोहनपुरा बांध के गेट खोले, 33 गांवों में अलर्ट

मोहनपुरा बांध के शनिवार को 12 गेट खोले जाने के बाद नेवज नदी का जलस्तर बढ़ गया है। 33 गांवों में अलर्ट जारी है। कालीपीठ के लगभग 100 गांवों का संपर्क राजगढ़ से टूट गया है।

इंदौर में नाला पार करते दो भाई बहे, एक की मौत

भोपाल से आए पिता को लेने जा रहे दो भाई एक्टिवा सहित ढाबली से मांगलिया के बीच नाले में बह गए। इसमें एक की मौत हो गई। मृतक सहवाग (13) पिता भगवान सिंह जोगी है।

खंडवा. ओंकारेश्वर व इंदिरा सागर के आसपास अलर्ट

ओंकारेश्वर बांध के 10 गेट खोल दिए गए हैं। अगले 24 घंटे में इंदिरा सागर बांध के गेट भी खुलने की संभावना है। दोनों बांधों के आसपास प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है।

उज्जैन. शिप्रा के सभी घाट डूबे, गंभीर बांध का गेट खोला

शिप्रा नदी में बाढ़ का नजारा बना रहा। रामघाट सहित घाट के किनारों पर बने मंदिर लगातार दूसरे दिन भी जलमग्न रहे। गंभीर डैम भी लबालब है। रविवार शाम एक गेट 25 सेंटीमीटर तक खुला रखा गया।

About Author