October 4, 2022

कांग्रेस वर्किंग कमिटी की मीटिंग में सोनिया गांधी ने किया अध्यक्ष पद से इस्तीफे का एलान

कांग्रेस वर्किंग कमिटी की वर्चुअल कांफ्रेंस के बीच से ब्रेकिंग न्यूज़ आ रही है। सोनिया गांधी ने कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से इस्तीफे का ऐलान कर दिया है। उन्हें कांग्रेस पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया था। उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि आगे वह पार्टी के अध्यक्ष पद पर बने रहना नहीं चाहती। इसी के साथ कांग्रेस पार्टी में नए मनमोहन सिंह की तलाश शुरू हो गई है।

कांग्रेस पार्टी का नया अध्यक्ष राहुल गांधी नहीं बल्कि सोनिया गांधी की पसंद का होगा

कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा? इसे लेकर अटकलों का बाजार भी गर्म हो गया है। लेकिन यह तय माना जा रहा है कि जो भी चेहरा सामने आएगा वह सोनिया गांधी का भरोसेमंद होगा। फिलहाल जिन नामों की चर्चा है उनमें राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, महासचिव मुकुल वासनिक, वरिष्ठ नेता सुशील कुमार शिंदे और मल्लिकार्जुन खड़गे जैसे नाम शामिल हैं।

ध्यान रहे इसमें वासनिक को छोड़कर किसी ने भी उस पत्र पर हस्ताक्षर नहीं किया है जो सोनिया गांधी को लिखा गया है। यहां यह भी बता दें कि वासनिक भी सोनिया के विश्वासपात्रों में शुमार हैं। 

राहुल गांधी की ताजा टीम में कौन-कौन शामिल

जानकारों का कहना है कि लंबे अरसे बाद कांग्रेस में गांधी नेहरू परिवार से बाहर का अध्यक्ष बनने की राह भी तैयार हो सकती है। ऐसे में यदि चुनाव की नौबत आती है और उक्‍त नेताओं के नाम आगे बढ़ाए जाते हैं तो राहुल गांधी की यंग ब्रिगेड के लिए भी विरोध करना मुश्किल होगा।

बता दें कि राहुल के पक्ष में आवाज उठाने वाले नेताओं में छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल, दिग्विजय सिंह, महाराष्ट्र के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं राजस्व मंत्री बालासाहेब थोराट, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव चल्ला वामशी चंद रेड्डी जैसे नेता शामिल हैं।

कांग्रेस पार्टी के किन नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिखा था

उल्लेखनीय है कि पूर्व मंत्रियों एवं कांग्रेस के कुछ सांसदों के एक समूह ने सोनिया गांधी को लिखे अपने पत्र में एक पूर्णकालिक, सक्रिय नेतृत्व नियुक्त करने की मांग की है जिन तक कार्यकर्ता और नेता आसानी से पहुंच सकें। पत्र के जरिए इन नेताओं ने पार्टी संगठन में ऊपर से नीचे तक बदलाव करने की भी मांग की है।

नेताओं ने कहा है कि आप (सोनिया गांधी) या तो पार्टी में पूर्णकालिक अध्यक्ष जिम्मेदारी ले या फिर इसके लिए चुनाव हो जाए। पत्र लिखने वालों में गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, कपिल सिब्बल, वीरप्पा मोइली, शशि थरूर, राज बब्बर, रेणुका चौधरी, भूपेंद्रसिंह हुड्डा, अखिलेश सिंह, मुकुल वासनिक, मनीष तिवारी और मिलिंद देवड़ा, जितिन प्रसाद, संदीप दीक्षित के नाम हैं।