October 4, 2022

शिवराज जी कांग्रेस पार्टी को आप से शिक्षा लेने की आवश्यकता नहीं है- जीतू पटवारी

  • मुख्यमंत्री शिवराज द्वारा कांग्रेस और गांधी परिवार पर आरोप लगाए जाने पर पटवारी ने दिया जवाब।
  • आप की पार्टी में लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, यशवंत सिन्हा और कई बुजुर्गों की गत क्या हुई सर्वविदित है।
  • आप ऐसे  मुख्यमंत्री हैं जिसने किसानों के बच्चों पर गोलियां चलवाई।
  • कांग्रेस के लिए हार जीत से बढ़कर हमारी नैतिकता हमारे सिद्धांत हैं। 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा कांग्रेस और गांधी परिवार पर लगाए गए आरोप पर पलटवार करते हुए कांग्रेस के प्रदेश मीडिया प्रभारी और विधायक जीतू पटवारी ने कहा कि श्री शिवराज सिंह चौहान जी आपने कई आरोप गांधी परिवार और कांग्रेस पार्टी पर लगाए हैं, मैं मानता हूँ कि यह आपका राजनीतिक अधिकार हो सकता है लेकिन आप चार बार के मुख्यमंत्री  हैं आपका वक्तव्य कैसा हो, कैसा व्यवहार हो, कैसी सोच हो और कैसी कार्यशैली हो यह मध्य प्रदेश का एक नागरिक होने के नाते मेरे मन में यह सवाल आता है। 

पटवारी ने कहा कि श्रीमती सोनिया गांधी जी जैसा उदाहरण विश्व में आपने कहीं देखा है, जिसमें प्रधानमंत्री जैसा पद ठुकराया है, उसके उलट देश के प्रधानमंत्री ने लालकृष्ण आडवाणी जी को  जब पार्टी का नेता बनना था तब क्या गत की गई थी उनकी क्या आपको नहीं पता है। आप तो पहले आडवाणी जी के साथ थे लेकिन यह जरूर है कि समय रहते आपने उनका साथ छोड़ दिया, पहले आप कहते थे कि वह आपके गुरु हैं मेरे पिता तुल्य है लेकिन यह सर्वविदित है कि आप ने राजनैतिक कैरेक्टर के हिसाब से परिचय दिया। 

पटवारी ने कहा कि शिवराज जी आपने कहा कि गांधी परिवार में क्या गत होती है नेताओं की आपने श्री यशवंत सिन्हा जी की बात क्यों नहीं की, श्री मुरली मनोहर जोशी जी की बात क्यों नहीं कही, श्री आडवाणी जी की बात क्यों नहीं की। आपकी पार्टी में ऐसे कई बुजुर्ग नेताओं की क्या गत हुई है यह सर्वविदित है। 

आरोप के जवाब में पटवारी ने कहा कि आप माननीय कमलनाथ जी के खिलाफ बार-बार आरोप लगाते हैं आप ऐसे  मुख्यमंत्री हैं जिसने किसानों के बच्चों पर गोलियां चलवाई। विश्व और देश में ऐसा कोई दूसरा मुख्यमंत्री नहीं है। आप ऐसे पहले मुख्यमंत्री हैं जिसने व्यापम का कलंक मध्यप्रदेश के माथे पर लगवा दिया है। इस बात का आभास है आपको, आप पहले मुख्यमंत्री हो जिसने लोकतंत्र की हत्या की। मध्यप्रदेश में ऐसा कोई दूसरा मुख्यमंत्री नहीं हुआ। आप ने कहा था कि चिमटे से भी नहीं छुउंगा मैं जिस सत्ता में बहुमत न आया हो और आपने ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ मिलकर पीठ पर छुरा घोंप दिया। किस मुंह से बात करते हैं आप इतना बताइए।

इतना सब होने के बाद आप ऐसे मुख्यमंत्री हो जो कोविड-19 कोरोना वायरस से पहले खुद संक्रमित हुए, इसके बाद पूरे कैबिनेट को किया, फिर पूरे विधायकों को किया और अब जनता को भी करने में लगे हैं। ग्वालियर चंबल में रोज कहते हैं कि लॉकडाउन का नियम जनता के लिए है पर मेरे और हमारी पार्टी के लिए नहीं है, सरकार के लिए कुछ और है। इस तरह का आपका चरित्र जो दिखता है। आप आरोप-प्रत्यारोप लगाने से पहले खुद का आत्ममंथन करो। 4 बार के आप मुख्यमंत्री हो जब आप दो उंगली से किसी पर उठाते हो तब तीन उंगली आप पर खुद ब खुद उठ जाती हैं। कृपा करके मध्य प्रदेश का और मुंह काला मत कीजिए। मैं हाथ जोड़कर आपसे प्रार्थना करता हूं कांग्रेस पार्टी जीतेगी हारेगी तो सिर्फ देश की सेवा के लिए।  हार जीत से बढ़कर हमारे लिए हमारी नैतिकता हमारे सिद्धांत हैं। हम वह हर काम करेंगे जिससे देश समृद्ध बने, हमें आपसे शिक्षा लेने की आवश्यकता नहीं है।