September 24, 2023

इंदौर में 1031 लीटर अवैध शराब जब्त, पुलिस ने दबिश देकर 3 तस्करों को पकड़ा

क्राइम ब्रांच ने हीरानगर और सदर बाजार पुलिस के साथ मिलकर अवैध शराब बेचने वाले 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्त में आए तस्करों के पास से 1031 लीटर अवैध शराब जब्त की है। इसमें 287 लीटर अंग्रेजी और 734 लीटर देशी मदिरा शामिल है। शराब की कीमत 7 लाख 25 हजार रुपए आंकी गई है। सदर बाजार क्षेत्र में जहां तस्कर दूध और किराना दुकान की आड़ में शराब बेच रहा था।

वहीं, हीरानगर में एक फार्म हाउस पर तस्करी के लिए बड़ी मात्रा में शराब छिपाकर रखी गई थी। हीरा नगर से 1 आरोपी को गिरफ्तार कर 4 लाख 36 हजार रुपए कीमत की 85 पेटी अवैध देशी शराब के साथ ही एक कार और बाइक जब्त की। वहीं, सदर बाजार क्षेत्र से 2 आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए 2 लाख 88 हजार रुपए कीमत की 33 पेटी अंग्रेजी शराब बरामद की। पुलिस को शराब तस्करी के बड़े नेटवर्क का खुलासा होने की उम्मीद है।

क्राइम ब्रांच को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ व्यक्ति बड़ी मात्रा में अंग्रेजी और देशी शराब अवैध रूप से हीरानगर और सदर बाजार क्षेत्र में बेच रहे हैं। इस क्राइम ब्रांच की 2 अलग-अलग टीमें गठित की गई।

एक टीम ने हीरानगर पुलिस के साथ क्षेत्र आरवी पूल एंड क्लब फार्म हाउस पर दबिश दी। यहां पर एक व्यक्ति मिला, जिसने खुद को फार्म हाउस का चौकीदार बताया। उसने अपना नाम अशोक पिता प्रकाश चंद्र शिंदे निवासी बरमंडल जिला धार का होना बताया। फार्म हाउस के कमरे की तलाशी लेने पर वहां से 85 पेटी करीबन 734 लीटर शराब मिली। शराब की कीमत 4 लाख 18 हजार आंकी गई। इसमें सफेद और लाल देशी मसाला शराब थी।

शराब से संबंधित दस्तावेज नहीं मिलने पर शराब को जब्त करते हुए चौकीदार को हिरासत में ले लिया गया। चौकीदार ने बताया कि फार्म हाउस अैर शराब मालिक विकास पिता नारायण नागपुरे निवासी शारदा विहार कॉलोनी, विक्की उर्फ विक्रम पिता रमेश चन्द्र निमजे निवासी सर्वहारा नगर और रितेश पिता नारायण निमाढ़े सुंदर नगर इंदौर हैं। ये फार्म हाउस से शराब लेकर धार जाने वाले थे, लेकिन पुलिस को देखकर मौके से अपने वाहन छोड़कर भाग गए हैं।

इस पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आबकारी अधिनियम में मामला दर्ज कर मौके से एक कार और बाइक जब्त की है।

About Author