October 2, 2022

भाजपा में असंतोष का माहौल, विधायक अजय विश्नोई ने जताई नाराजगी

 मध्य प्रदेश में 27 विधान सभा क्षेत्रों में होने वाले उपचुनाव से पहले भाजपा में भी असंतोष का माहौल बना हुआ है। ऐसे में पार्टी के असंतुष्ट नेता अब विधानसभा अध्यक्ष-उपाध्यक्ष महाकौशल या विंध्य इलाके से बनाने की मांग उठा रहे हैं। ये नेता अपनी नाराजगी खुलकर जता रहे हैं और इस मांग को संगठन तक पहुंचा चुके हैं। 

सिंधिया के कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आने से भाजपा सरकार तो बन गयी। लेकिन पार्टी के कद्दावर नेता पीछे रह गए। सिंधिया अपने कई साथ नेताओं और कार्यकर्ताओं की फौज लेकर भाजपा में आए हैं। ऐसे में भाजपा ने अपने कई कद्दावर नेताओं को दरकिनार कर दिया। जिस कारण भाजपा के अंदर अब असंतोष फूट रहा है। 

नया मामला विधानसभा अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के लिए सामने आया है। इसके नाम को लेकर अब घमासान तेज हो गया है। इस मामले में जबलपुर संभाग से आने वाले पूर्व मंत्री और विधायक अजय विश्नोई की नाराजगी उभर कर आई है। उन्होंने भाजपा  कार्यालय पहुंचकर बीडी शर्मा से इस बारे में मुलाकात की। 

विधायक और पूर्व मंत्री अजय विश्नोई की नाराजगी लगातार खुलकर सामने आ रही है। मंत्रिमंडल में जबलपुर को नजरअंदाज करने पर वो नाराज चल रहे हैं। अब विंध्य से पार्टी नेताओं को नेतृत्व नहीं मिलने पर वो भी असंतुष्ट हैं। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष और उपाध्यक्ष महाकौशल या विंध्य क्षेत्र से बनाने की मांग रख दी है।

पार्टी के निर्देशों का करूंगा पालन

पूर्व मंत्री और विधायक अजय विश्नोई ने भाजपा मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा से मुलाकात के बाद मीडिया से कहा कि वीडी शर्मा संगठन के मुखिया हैं और यह मुख्यालय संगठन का मंदिर है। शर्मा से मेरी संगठन को लेकर चर्चा हुई है। 27 विधान सभा क्षेत्रों में उपचुनाव हैं। मेरी क्या भूमिका हो सकती है इस पर भी चर्चा हुई है। इसी के साथ ही उन्होंने कहा कि पार्टी जो निर्देश देगी उसका पालन करूंगा।

नाराजगी का हो जाएगा समय के साथ समाधान

अजय विश्नोई ने कहा कि नाराजगी का अपना अलग कारण है। नाराजगी की अभिव्यक्ति भी मैंने अपने हिसाब से की है, लेकिन कभी पार्टी के दायरे से बाहर जाकर नाराजगी व्यक्त नहीं की है। मैंने अपने लहजे में ही बात की है जिसे सहज रूप से स्वीकार भी किया गया है। महाकौशल-विंध्य को मौका नहीं मिलने पर उन्होंने कहा कि उपेक्षा की भरपाई करने के और भी तरीके हैं। संगठन इस पर विचार कर रहा है। जिन कारणों को लेकर नाराजगी व्यक्त की है, समय के साथ उसका समाधान हो जाएगा।