April 16, 2024

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा एवं जीतू पटवारी ने राहुल गाँधी के #SpeakUpForStudentSafety का किया समर्थन

  • सज्जन सिंह वर्मा ने कहा मैं राहुल गांधी के स्पीकर फॉर स्टूडेंट सेफ्टी अभियान का स्वागत करता हूँ।
  • पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने कहा माननीय प्रधानमंत्री जी परीक्षाओं को लेकर हठधर्मिता ठीक नहीं।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने JEE एवं NEET जैसी परीक्षाओं को लेकर अपना विरोध जताया है। उनका कहना है की छात्रों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखतें हुए इन परीक्षाओं को कोरोना काल ख़त्म होने तक के लिए टाल देना चाहिए। परीक्षाऐं टालने के लिए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा एवं जीतू पटवारी समेत कई वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने राहुल गाँधी के #SpeakUpForStudentSafety अभियान का समर्थन किया है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने छात्रों के समर्थन में सरकार के खिलाफ राहुल गाँधी के #SpeakUpForStudentSafety अभियान का समर्थन किया है।

मैं राहुल गांधी के स्पीकर फॉर स्टूडेंट सेफ्टी अभियान का स्वागत करता हूँ – सज्जन सिंह वर्मा

उन्होंने कहा कि मैं राहुल गांधी के स्पीकर फॉर स्टूडेंट सेफ्टी अभियान का स्वागत करता हूँ। उन लाखों नौजवानों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए और उनका जीवन सुरक्षित करने के लिए जब देश मे कोरोना का संक्रमण चरम पर है और स्टूडेंट नीट और जेईई के एग्जाम नही चाहते हैं। क्योंकि कोरोना का संक्रमण मोदी की केंद्र सरकार और उनकी राज्य सरकारें रोक नहीं पा रहे हैं ऐसे हालातों में एग्जाम के होने को लेकर पूर्व मंत्री वर्मा ने अपना विरोध जताया है। और उन्होंने मांग की है कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए NEET और JEE के एग्जाम को फिलहाल रोका जाए।

जीतू पटवारी ने कहा परीक्षाओं को लेकर हठधर्मिता ठीक नहीं

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने देश में चल रहे JEE और NEET के एग्जाम के विरोध में राहुल गाँधी के #SpeakUpForStudentSafety अभियान का समर्थन करते हुए कहा है कि माननीय प्रधानमंत्री जी परीक्षाओं को लेकर हठधर्मिता ठीक नहीं, इसे सरकार का विरोध नहीं मानना चाहिए। जब देश का भविष्य सुरक्षित होगा तब ही हम देश के भविष्य के लिए कार्य कर सकते हैं। इस समय 70 हजार से ज्यादा परिवार कोरोना संक्रमण से रोज जूझ रहे हैं। ऐसे में छात्रों का जमघट लगाना ठीक नही है इसमें हठधर्मिता नहीं दिखानी चाहिए। ये आपके ही बनाये गये नियम लॉक डाउन का उल्लंघन हैं।

About Author