April 21, 2024

ओंकारेश्वर बांध के 21 गेट खुले, नर्मदा ने धारण किया रौद्र रूप

ओंकारेश्वर बांध के गेट खोलने के बाद नर्मदा ने अपना रौद्र रूप धारण कर लिया है। लगातार बढ़ रहे जलस्तर के कारण खंडवा, खरगोन, बड़वानी और धार जिलों को रेड अलर्ट पर रखा गया है। एनएचडीसी के अलावा खंडवा जिला प्रशासन नर्मदा पट्टी स्थित गांवों में नजर बनाए हुए हैं। बांध प्रशासन के मुताबिक दोनों बांधों से करीब 10 हजार क्युमेक्स प्रति सेकंड की रफ्तार से पानी छोड़ा जा रहा है जिससे नर्मदा का जल स्तर खतरे के निशान तक पहुंच गया है। 

ओंकारेश्वर में सभी घाट जलमग्न हो गए हैं। घाटों तक लोगों की आवाजाही भी प्रतिबंधित कर दी गई है। प्रशासन ने नदी किनारे गांवों में धारा 144 लगा दी है। खंडवा जिला प्रशासन ने खरगोन, बड़वानी और धार जिलों में सूचना जारी कर अलर्ट कर दिया है। साथ ही नीचे की पट्टी के जिलों को सूचना जारी कर दी है। बरगी बांध का पानी छोड़ने के कारण यहाँ पानी बढ़ गया था गेट खोलने पड़े हैं।

इंदिरा सागर बांध का पानी तेजी से ओंकारेश्वर बांध में आने के कारण इस सीजन में पहली बार बांध के 23 में से 21 गेट खोले गए। महाप्रबंधक प्रशांत दीक्षित ने बताया 21 गेट खोलकर और 8 टरबाईन से 10 हजार क्यूमेक्स पानी छोड़ रहे। बांध प्रबंधन से सूचना मिलने के बाद सभी घाटों को खाली करवा लिया गया। किसी भी श्रद्धालु या व्यक्ति को नर्मदा किनारे नहीं जाने के निर्देश दे दिए थे।

बरगी बांध के गेट खुलने से ओंकारेश्वर बांध का जलस्तर बढ़ा 

एडीएम नंदा भलावे ने बताया कि बरगी बांध के गेट खुलने से ओंकारेश्वर बांध का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। इसलिए हमने बांध के गेट खोलते हुए बांध के आगे वाले जिलों को सूचित कर दिया है कि जो नर्मदा किनारे के गांवों में इसकी सूचना देते हुए आवश्यकता पड़ने परर उन्हें खाली करवा लिया जाए।

About Author