October 4, 2022

लोकसभा एवं राज्यसभा के मानसून सत्र की तैयारियां पूरी, 14 सितंबर से शुरू हो सकता है सत्र

भारत के सर्वोच्च सदन संसद (लोकसभा एवं राज्यसभा) के मानसून सत्र की तैयारियां पूरी कर ली गई है। अधिसूचना जारी नहीं हुई है परंतु सूत्र बताते हैं कि 14 सितंबर से सत्र की शुरुआत होगी। इस बार का मानसून सत्र, पिछले वर्षों की तुलना में काफी अलग होगा। सांसदों को सत्र शुरू होने के 72 घंटे पहले रिपोर्ट करना होगा। सभी सांसदों का कोरोनावायरस टेस्ट किया जाएगा। पॉजिटिव पाए जाने वाले सांसदों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

सभी सांसदों के स्टाफ और परिवार का भी कोविड-19 टेस्ट करवाया जाएगा

लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला के मुताबिक, सभी सांसदों के स्टाफ और परिवार का भी टेस्ट किया जाएगा। इसके अलावा संसद सत्र के दौरान भी रैंडम टेस्ट किए जाएंगे। सभी सांसदों के टेस्ट करवाने की व्यवस्था संसद परिसर में ही करवाई जाएगी, ये टेस्ट सत्र शुरू होने से पहले ही किए जाएंगे। संसद का सत्र शुरू होने से पहले सेंट्रल हॉल के लिए सभी पास कैंसल कर दिए गए हैं।

संसद में सुरक्षा के अलावा स्वास्थ्य के लिए भी विशेष सतर्कता

शुक्रवार को ओम बिड़ला ने मॉनसून सत्र से संबंधित तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, AIIMS, ICMR, DRDO एवं दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग के विशेषज्ञों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान बिड़ला ने निर्देश दिया कि संसद के मॉनसून सत्र के मद्देनजर स्वास्थ्य सुरक्षा को लेकर विशेष सतर्कता बरती जाए और संसद परिसर में भी स्वास्थ्य जांच के लिए व्यापक इंतजाम किए जाएं।

हर रोज संसद भवन का सैनिटाइजेशन किया जाएगा

संसद सत्र के दौरान संसद परिसर तथा संसद भवन में प्रवेश के समय थर्मल गन और थर्मल स्कैनर से तापमान की जांच की जाएगी। इसके अतिरिक्त संसद परिसर में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जाएगी। यहां 40 स्थानों पर टचलैस सैनिटाइजर लगाए जाएंगे तथा इमरजेंसी मेडिकल टीम और एम्बुलेंस की व्यवस्था रहेगी। पूरे परिसर में COVID-19 से बचाव के दिशा-निर्देशों को सख्ती से पालन किया जाएगा। 

मानसून सत्र में कुल 18 बैठकें होंगी

आपको बता दें कि इस बार के सेशन में कई तरह की सावधानियां कोरोना वायरस संकट के चलते बरती जा रही हैं। 14 सितंबर से शुरू होने वाला सत्र 1 अक्टूबर तक चलेगा। इस दौरान संसद की कुल 18 बैठकें होनी हैं।

सांसदों को छुट्टी नहीं दी जाएगी, शनिवार रविवार को भी कामकाज होगा

इस दौरान किसी तरह की छुट्टी नहीं होगी, यानी शनिवार-रविवार को भी सदन चल सकता है। संसदीय मंत्री के मुताबिक, अगर हफ्ते के अंत में छुट्टी होती है तो सांसद बाहर यात्रा पर निकल सकते हैं जिससे खतरा बढ़ सकता है।