October 8, 2022

इंदौर में सीरो सर्वे की रिपोर्ट आई सामने, 7.72 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी विकसित हुई

देश भर में कोरोना महामारी से संक्रमित होने वाले लोगों की तादाद लगातार बढ़ रही है। लॉकडाउन में ढील देने के बाद से अब रोजाना 60-70 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं, मृतकों की संख्या भी 60 हजार से अधिक हो चुकी है। हालांकि सरकार को उम्मीद है कि लोगों में कोविड-19 की एंटीबॉडी विकसित हो जाएगी।

ऐसे में मध्य प्रदेश के इंदौर से एंटीबॉडी को लेकर नया आंकड़ा सामने आया है। इसके मुताबिक शहर में इसी महीने की शुरुआत में किए गए सीरो सर्वे से पता चला है कि यहां 7.72 प्रतिशत लोगों में एंटीबॉडी विकसित हुई है। बात करें कोविड-19 के मामलों की तो यहां एमपी का इंदौर सर्वाधिक प्रभावित रहा है। 

उधर इंदौर संभागीय आयुक्त पवन कुमार शर्मा ने बताया, ‘एक वर्ष से अधिक आयु के 7,103 लोगों के रक्त के नमूने को नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल की मदद से 11 से 23 अगस्त तक सर्वेक्षण के तहत लिया गया।’ उन्होंने कहा, ‘इनमें से 548 नमूने, करीब आठ प्रतिशत लोगों में, कोविड-19 की एंटीबॉडीज पाई गई है। सबसे महत्वपूर्ण बात, सर्वेक्षण में शामिल पुरुषों और महिलाओं में समान अनुपात में एंटीबॉडी थी।’

सर्वेक्षण में पता चला है कि शहर के प्रभावित इलाकों में फैलने वाले संक्रमण को दूर करने के लिए किए गए प्रयासों का असर होने लगा है। अधिकारी के मुताबिक, शहर के बॉम्बे बाजार क्षेत्र में, 30 प्रतिशत से अधिक लोगों में एंटीबॉडी पाई गई है। उन्होंने कहा, सर्वेक्षण के अनुसार, 45 से 60 आयु वर्ग के लोगों में अधिकतम एंटीबॉडी थी।