October 4, 2022

इंदौर में प्रतिबंध के बावजूद निकाले ताजिए, बड़ी संख्या में इकट्ठा हुए लोग

  • पांच ताजियों से जुड़े लोगों के खिलाफ केस दर्ज, खजराना के बड़ला इलाके में जमा हुई थी भीड़।

कोरोनाकाल में प्रतिबंध के बाद भले ही पुलिस ने हर जगह सख्ती कर रखी है, लेकिन मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में ताजिए निकालने की घटना सामने आई है। इंदौर में खजराना के बड़ला इलाके में बड़ी संख्या में इकट्ठे हुए लोग पांच ताजिए लेकर मैदान में आ गए, जिसके बाद वहां सोशल डिस्टेंसिंग टूट गई। सूचना मिलने पर पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने लोगों को समझाकर ताजिए वापस रखवाए। घटना के बाद अफसरों ने खजराना टीआई को लाइन अटैच कर दिया है।

एएसपी राजेश रघुवंशी के अनुसार घटना रविवार दोपहर को बड़ला में हुई है। चार दिन से लगातार समुदाय के लोगों को समझाया जा रहा था कि कोविड काल में कोई भी भीड़ इकट्ठी नहीं होने देना है। ताजिए अपने स्थान पर रखे रहेंगे। उन्हें बाहर नहीं निकाला जाएगा। खजराना में बाकी जगहों पर अच्छी व्यवस्था थी।

लोगों ने पुलिस की बात मानी, लेकिन बड़ला में अचानक भीड़ सामने आ गई। यहां लोगों ने पुलिस की सारी व्यवस्थाओं को धत्ता बताते हुए लोगों ने ताजिए निकाल दिए। वे बड़ी संख्या में बाहर आए। ताजिए मैदान में भी घुमाए। युवक नारेबाजी करते रहे। इस दौरान पुलिस ने व्यवस्था संभालने की कोशिश की, लेकिन जब भीड़ सामने आ गई तो उन्हें संभालना मुश्किल था। बाद में एसडीएम, एएसपी औऱ सीएसपी भी वहां पहुंचे। उन्होंने लोगों को समझाया। फिर व्यवस्था बनाई।

इस पूरे घटनाक्रम में अफसरों ने टीआई संतोष सिंह यादव को जिम्मेदार मानते हुए लाइन अटैच किया है। उधर, पुलिस ने पांच ताजिए लेकर आने वाले लोगों के खिलाफ उल्लंघन का केस दर्ज किया है। अब वीडियो देखकर उनके नाम दर्ज किए जाएंगे।

अफसरों का मैनेजमेंट और लोगों के विश्वास से शहर में रही शांति

मुहर्रम में दो दिन से शहर भर में भी खासी व्यवस्थाएं लगी हुई थी। चंदननगर, कर्बला मैदान, छत्रीपुरा औऱ इमामबाड़े, सदर बाजार, बंबई बाजार औऱ खजराना जैसे महत्वपूर्ण इलाकों में रविवार को बैरिकेटिंग लगाकर सख्ती कर दी गई थी।

यहां पुलिस का खासा फोर्स तैनात था। हालांकि इमामबाड़े में कुछ संख्या में लोगों के पहुंचने की जानकारी मिली है। जिन्हें पुलिस ने समझाकर वापस रवाना कर दिया। यहां अफसरों का मैनेजमेंट और लोगों से चर्चा का फायदा मिला है। हालांकि खजराना में भी पुलिस ने काफी लोगों को समझा रखा था, लेकिन अचानक अफवाह फैलने से माहौल गर्मा गया।

डीआईजी हरिनारायण चारी मिश्र के अनुसार पूरे शहर में हमने सख्त कार्रवाई की है। व्यवस्थाएं चाक चौबंद थी। हालांकि राजीव नगर बड़ला में व्यवस्था बिगड़ी तो वहां टीआई औऱ आयजकों के खिलाफ भी कार्रवाई की है।

एएसपी राजेश रघुवंशी के अनुसार इसमें 4 एफआईआर हुई। सभी पर भादवी की धारा 188, 269 और 270 के तहत केस दर्ज हुआ है। इसमें कुछ नामजद लोग हैं जिसमें उस्मान पटेल का नाम भी शामिल है। बाकी की पहचान फोटो और वीडियो देखकर होगी। वीडियो के लिहाज से इसमें 100 से ज्यादा लोग होंगे।