October 2, 2022

पूर्व मंत्री और विधायक पीसी शर्मा ने कहा कोरोना रोकने के लिए फ्री हो जांच और इलाज

मध्यप्रदेश की पूर्वर्ती कमल नाथ सरकार में मंत्री रहे पीसी शर्मा ने कहा है कि देश में गरीब लोगों के कोरोना का इलाज फ्री में होना चाहिए। पूर्व मंत्री शर्मा ने कहा है कि प्रदेश और देश में लगातार कोरोना की स्थिति अनियंत्रित होते जा रही है। लिहाज़ा सरकार को कोरोना को नियंत्रित करने के लिए ज़रूरी कदम उठाने की आवश्यकता है।  

सरकार इलाज के नाम पर लोगों से वसूली कर रही है 

पीसी शर्मा ने केंद्र और राज्य सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि सरकार लोगों से इलाज के लिए पैसे ले रही है।शर्मा ने कहा कि यही कारण है गरीब लोग पैसों की कमी के चलते प्रतिदिन कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं। शर्मा ने कहा कि चूँकि देश और प्रदेश में कोरोना और बेकाबू न होने पाए इसलिए सरकार को कोरोना का इलाज फ्री कर देना चाहिए।

मालूम हो कि अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने हाल ही में एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिसमें कहा गया था कि बेंगलुरु शहर में लगभग 3500 ऐसे कोरोना के मामले हैं जिनके स्थान की कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है। अखबार के मुताबिक यह वे लोग हैं जिन्होंने टेस्ट के दौरान खुद से जुडी हुई गलत जानकारियां दी थीं।  

सरकार मौत के आंकड़े छुपा रही है 

पीसी शर्मा ने शिवराज सरकार पर बाढ़ के कारण मरने वाले  लोगों का वास्तविक आंकड़े सार्वजनिक न करने का आरोप लगाया है। प्रदेश के लगभग 12 ज़िलों के 400 ऐसे गाँव हैं जो कि बाढ़ की त्रासदी की चपेट में हैं। पीसी शर्मा का आरोप है कि एक तो राज्य सरकार मुस्तैदी के साथ राहत बचाव कार्य नहीं कर रही है, दूसरा राज्य सरकार अपनी नाकामियों को छुपाने के लिए बाढ़ के कारण मरने वाले लोगों की संख्या ज़ाहिर नहीं कर रही है।