October 4, 2022

मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में करोड़ों की लागत से बना पुल उद्घाटन से पहले बारिश में बहा

मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में करोड़ों की लागत से वैनगंगा नदी पर बना 300 मीटर लंबा पुल 30 अगस्त को बारिश में बह गया। सबसे बड़ी बात यह है कि इस पुल का उद्घाटन भी 30 अगस्त को ही होना था। पुल एक महीने पहले ही बनकर तैयार हुआ था। पुल बहने से इलाके का संपर्क टूट गया है। जिससे लोगों को आने-जाने में परेशानी हो रही है. वहीं, इसको लेकर प्रदेश में सियासत भी गरमा गई है।

विकास के नाम पर बीजेपी नेता ठेकेदारों के साथ पैसा कमाने में लगे हैं – जेपी धनोपिया

पुल गिरने पर कांग्रेस नेता और पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जेपी धनोपिया ने बीजेपी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि जब से बीजेपी सत्ता में आई है, तब से भ्रष्ट्राचार बढ़ गया है। सिवनी का पुल इसका उदाहरण है। शिवराज सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास के नाम पर ठेके देती है। ये लोग काम कम और दिखावा ज्यादा करते हैं। प्रदेश के विकास के नाम पर बीजेपी नेता ठेकेदारों के साथ पैसा कमाने में लगे हैं।

दोषियों के खिलाफ जांच बैठा दी गई है – बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी

वहीं, सिवनी पुल गिरने के मामले को बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी ने गंभीर मामला बताया है। उन्होंने कहा कि जो ठेकेदार पुल बनाने में लगे हुए थे, उनके खिलाफ जांच बैठा दी गई है। इसके अलावा गंगा नदी के डैम में जिस तरह से पानी छोड़ा गया है। उसकी भी जांच की जा रही है।

इस दौरान बीजेपी प्रवक्ता राहुल कोठारी ने कांग्रेस पर तंज भी कसा। कोठारी ने कहा कि कांग्रेस पहले यह जानकारी जुटा ले कि पुल बनाने वाले ठेकेदार किसके संपर्क में हैं? साथ ही उन्होंने पुल निर्माण को लेकर कांग्रेस सरकार पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि पुल निर्माण का कार्य तो पिछली सरकार में ही शुरू हुआ था।