February 26, 2024

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी नहीं रहे, अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर दी जानकारी

पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न प्रणब मुखर्जी का 84 साल की उम्र में निधन हो गया है। उनके पुत्र अभिजीत मुखर्जी ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। भारत रत्न प्रणब मुखर्जी देश के 13वें राष्ट्रपति थे। वह साल 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे। उनको दस अगस्त को दिल्ली कैंट स्थित सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार से पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की हालत बिगड़ गई थी। सोमवार को भी उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ था। प्रणब मुखर्जी की इस महीने ब्रेन सर्जरी हुई थी, जिसके बाद से वह कोमा में चले गए थे।

पूर्व राष्ठ पति के निधन पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दुख प्रकट करते हुए कहा कि भारत के पूर्व राष्ट्रपति मा. श्री प्रणब मुखर्जी के निधन के समाचार को सुनकर अत्यंत दु:ख हुआ। आज मां भारती ने अपने एक गुणी और राष्ट्र के लिए समर्पित पुत्र को खो दिया। प्रणब दा ने केंद्रीय वित्तमंत्री रहते हुए मध्यप्रदेश के विकास में योगदान देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। वे अन्य दलों के नेताओं से भी आत्मीय संबंध रखते थे। उनका जाना हम सभी के लिए और देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है। भारत उनके देशप्रेम और जनसेवा को सदैव याद रखेगा।

मध्य प्रदेश से राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि पूर्व राष्टपति प्रणव मुखर्जी के निधन से स्तब्ध और दुःखी हूं, भारतीय राजनीति का एक ऐसा शून्य जो कभी भरा नहीं जा सकता। एक ऐसा दिग्गज जो एक बेजोड़ विरासत को पीछे छोड़ गया है। उनके परिवार के प्रति मेरी ईमानदारी से संवेदना है

प्रणब दा जुलाई, 2012 में राष्ट्रपति पद पर आसीन होने से पहले रक्षा और वित्त जैसे अहम मंत्रालय संभाल चुके थे। उन्हें 10 अगस्त को दोपहर दिल्ली कैंट स्थित आरआर (रिसर्च एंड रेफरल) अस्पताल में भर्ती किया गया था। उनके मस्तिष्क में खून का थक्का जम गया था, जिसकी सर्जरी हुई थी। वे उसी दिन कोरोना संक्रमित पाए गए थे। ऑपरेशन के बाद भी उनकी सेहत में सुधार नहीं हुआ। वे कोमा में थे और उनके फेफड़े व किडनी में भी संक्रमण हो गया था। उन्हें वेंटीलेटर सपोर्ट देना पड़ा था। सोमवार को शाम 4ः30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

About Author