February 29, 2024

ग्वालियर में फिर लगाई गई धारा 144 , पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का दौरा स्थगित

भारतीय जनता पार्टी के तीन दिवसीय सदस्यता महाकुंभ के बाद ग्वालियर में तेजी से बढ़ते कोविड-19 पॉजिटिव मामले और मौतों की संख्या के बाद ग्वालियर कलेक्टर ने शहर में धारा 144 लगा दी है। इसके कारण शहर में सार्वजनिक स्थानों पर किसी भी प्रकार की राजनीतिक आयोजन नहीं हो सकेंगे। धारा 144 के कारण कमलनाथ का मेगा शो स्थगित कर दिया गया।

भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियों के कई नेता महामारी का शिकार

खास बात यह है कि बढ़ते राजनीतिक आयोजनों के बाद नेता भी तेजी से संक्रमण का शिकार हुए हैं। जिले में कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक, शहर कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. देवेंद्र शर्मा, ग्रामीण कांग्रेस जिलाध्यक्ष संक्रमित हो चुके हैं। जबकि भाजपा में संभागीय संगठन मंत्री आशुतोष तिवारी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, पूर्व मंत्री नारायण सिंह भी संक्रमण के शिकार बन चुके हैं।

भाजपा और कांग्रेस के कारण ग्वालियर में कोरोना का कहर

22 से 24 अगस्त तक जिले में तीन दिवसीय सदस्यता अभियान का आयोजन किया गया था। इसमें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व राज्यसभा सदस्य ज्योतिरादित्य सिंधिया विशेष रूप से मौजूद रहे थे। आयोजन में 50 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं को जुटाया गया था। कांग्रेस ने इसका विरोध करते हुए चार हजार से अधिक लोगों के साथ प्रदर्शन भी किया था। दोनों पार्टियों के नेताओं ने कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया। नतीजा उनके कार्यकर्ता दो संक्रमित हुए ही, उनके कारण आम जनता भी संक्रमित हो रही है। 

उपचुनाव नवंबर में है इसलिए कमलनाथ का कार्यक्रम स्थगित कर दिया: डॉ देवेंद्र शर्मा

डॉ देवेंद्र शर्मा, अध्यक्ष शहर जिला कांग्रेस ग्वालियर का कहना है कि उपचुनाव के कारण नेताओं के दौरे मजबूरी हो गए थे। अब चुनाव नवंबर में होने के संकेत मिलने के बाद कांग्रेस ने चुनावी गतिविधियों पर विराम लगाया है। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ का कार्यक्रम भी स्थगित कर दिया गया है।

भाजपा तो पहले से ही प्रोटोकॉल का पालन कर रही है: कमल माखीजानी

कमल माखीजानी, जिलाध्यक्ष भाजपा, ग्वालियर का कहना है कि भाजपा पहले से कोरोना संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए शारीरिक दूरी व मास्क लगवाने का ध्यान रख रही है। संक्रमण बढ़ने से संगठन से जुड़े लोगों के दौरे कुछ समय के लिए स्थगित किए जा रहे हैं। जिला प्रशासन ने भी धारा-144 लागू कर दी है।

About Author