March 22, 2023

किसान को डरा-धमका कर सिंधिया और शिवराज की सभा के लिए खेत में लगाया पंडाल

  • किसान ने बताया कि सभा स्थल के लिए खेत की मेढ़ को भी मिटाया गया और इस पूरे मामले में आपत्ति जताने पर किसान पर पुलिस से झूठे केस लगवाने की धमकी भी दी गयी।

मध्य प्रदेश में 27 विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए बीजेपी ने अपनी कमर कस ली है। ऐसे में पार्टी के सभी नेता जोर शोर से मेहनत करने में जुटे हैं। वहीं सीएम शिवराज सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया की दिमनी विधान सभा का एक जनसभा कार्यक्रम विवादों के घेरे में आ गया है। कार्यक्रम स्थल वाले खेत मालिक किसान रामकिशोर सिंह तोमर ने प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। जानकारी के मुताबिक किसान ने आरोप लगाया है कि सीएम का सभा स्थल उसकी सहमति के बिना ही उसके खेत पर बना दिया गया है।

किसान का कहना है कि उसने सरसों के लिए हाल ही में खेत जुतवाया था। उसने बताया कि सभा स्थल के लिए खेत की मेढ़ को भी मिटाया गया और इस पूरे मामले में आपत्ति जताने पर किसान पर पुलिस से झूठे केस लगवाने की धमकी भी दी गयी। मामले के चलते किसान पिछले दो दिन से घर नहीं गया है। वह वहीं उसी खेत पर डेरा डाल कर बैठा है कि जब तक उसे न्याय नहीं मिलेगा वह वहां से नहीं जाएगा।

उपचुनाव में सबसे ज्यादा सरगर्मी 

वहीं दूसरी तरफ उपचुनाव में सबसे ज्यादा सरगर्मी उन सीटों पर है जिन सीटों पर कांग्रेस का हाथ छोड़कर बीजेपी का भगवा चोला उड़ने का काम हुआ हैं। दरअसल कांग्रेस विधायकों के दल बदलने को लेकर उनके विधानसभा क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। पूर्व विधायक के विधानसभा क्षेत्र में पहुंचने पर कई जगह से विरोध करने और काले झंडे दिखाने के फोटो और वीडियो वायरल हो रहे हैं। लेकिन पूर्व विधायकों के विरोध को लेकर बीजेपी ने कांग्रेस पर बड़ा हमला बोला है।

पूर्व विधायकों का विरोध

हाल ही में प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने कहा है कि पूर्व विधायकों का विरोध पूरी तरीके से कांग्रेस प्रायोजित है। भदौरिया ने कांग्रेस पर प्रदूषित राजनीति के चलते पूर्व विधायकों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन और काले झंडे दिखाने का आरोप लगाया हैं। सहकारिता मंत्री ने दावा किया है कि बीजेपी सरकार के कामों को लेकर खुश जनता भाजपा पर ही मुहर लगाएगी और उपचुनाव के नतीजे कांग्रेस को करारा जवाब देने का काम करेंगे। सहकारिता मंत्री भदौरिया के मुताबिक पूर्व विधायकों को लेकर कहीं भी जनता में नाराजगी नहीं है और विकास कार्यों को लेकर उपचुनाव वाली सीटों पर जनता का पूरा समर्थन बीजेपी को हासिल हो रहा है।