April 14, 2024

पड़ोसी महाराष्ट्र ने छोड़ा साथ तो छत्तीसगढ़ आया आगे, मध्यप्रदेश को मिलने लगी ऑक्सीजन की सप्लाई

कोरोना मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई पूरी नहीं कर पा रहे मध्यप्रदेश को महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने बड़ा झटका दिया है। इसके बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने मदद के लिए हाथ बढ़ाए हैं। मध्यप्रदेश सरकार ने भी युद्ध स्तर पर ऑक्सीजन प्लांट बढ़ाने और वर्तमान प्लांट को 24 घंटे चलाए रखने के निर्देश दिए हैं।

महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे ने ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर मध्यप्रदेश को चिंता में डाल दिया था। इसके बाद एक पड़ोसी राज्य के हाथ खींचने के बाद दूसरे पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ ने बड़ी राहत दी है, वहीं भोपाल के तीन ऑक्सीजन प्लांट भी लगातार चलाए रखने के निर्देश दिए गए हैं। आक्सीजन की कमी कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या माना जा रहा है। इस महामारी में पीड़ित मरीज को ऑक्सीजन की ज्यादा जरूरत होती है। मरीज़ बढ़ने से ऑक्सीजन की मांग भी लगातार बढ़ रही है, लेकिन महाराष्ट्र सरकार की ओर से सप्लाई बंद कर देने से यह संकट खड़ा हो गया था।

रोज 1200 सिलेंडर की खपत

जबलपुर में ऑक्सीजन सिलेंडर्स की खपत बढ़कर प्रतिदिन औसत 1200 हो गई है, फिर भी इतने सिलेंडर उपलब्ध नहीं हो पा रहे हैं। एक पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र ने ऑक्सीजन देने से अपने हाथ खींच लिए तो दूसरे पड़ोसी राज्य छत्तीसगढ़ ने मदद के लिए हाथ बढ़ा दिए। छत्तीसगढ़ ने जबलपुर के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर्स की सप्लाई शुरू कर दी है।

भिलाई से ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू

मेडिकल अस्पताल कैंपस में जबलपुर जिला प्रशासन जल्द ही एक आक्सीजन प्लांट बनाने जा रहा है। जबलपुर के कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के मुताबिक भिलाई से ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू हो गई है। पहली खेप पहुंच गई है। ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था बनाए रखने के लिए जबलपुर प्रशासन ने अपने एक अफसर की पोस्टिंग भी कुछ समय के लिए भिलाई में कर दी है।

About Author