December 10, 2022

बीएसपी से निष्कासित विधायक राम बाई ने किसान कर्जमाफी के मुद्दे पर कांग्रेस सरकार की तारीफ की

बीएसपी से निष्कासित विधायक राम बाई ने दावा किया है कि मध्य प्रदेश विधानसभा उपचुनाव के बाद बीएसपी प्रमुख मायावती राज्य में किंगमेकर का किरदार निभाएंगी। हालांकि वे खुद बीएसपी से निकाली जा चुकी हैं, फिर भी उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद कोई भी सरकार बीएसपी के सहयोग के बिना नहीं बन पाएगी। किसान कर्जमाफी के मसले पर उन्होंने राज्य की पिछली कांग्रेस सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि सच यही है कि कमल नाथ की सरकार ने सत्ता में रहते हुए किसानों के कर्ज माफ किए थे। उन्होंने कहा कि इस अहम मुद्दे पर वे झूठ नहीं बोल सकतीं। 

दमोह जिले के पथरिया से विधायक राम बाई ने कहा कि राज्य में एक बार बीएसपी के समर्थन से सरकार बन गई, तो दिखा बता देंगे कि सरकार कैसे काम करती है। उन्होंने कहा कि बीएसपी उपचुनाव में सभी 28 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रही है और अगर उसे 15 सीटें मिल गईं तो सरकार उसी की मर्जी से बनेगी। राम बाई ने कहा कि अगर बीएसपी के समर्थन से सरकार बनी तो वे तमाम वादे पूरे किए जाएंगे जो अब तक अधूरे रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कमल नाथ सरकार ने कर्जमाफी तो ज़रूर की, लेकिन अतिथि विद्वानों के मामले में कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने झूठ बोला। 

राम बाई के बयान का मतलब क्या है

चुनाव की तारीखों के एलान के फौरन बाद दिए गए रमा बाई के इस बयान को कांग्रेस के लिए संकेत के रूप में देखा जा रहा है। बता दें कि प्रदेश में फिलहाल बीएसपी के दो विधायक हैं और उप-चुनाव वाली 28 सीटों पर वह चुनावी नतीजों को प्रभावित कर सकती है। बीएसपी प्रमुख मायावती पहले ही साफ कर चुकी हैं कि उनकी पार्टी सभी 28 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बाद माना जा रहा था कि बीएसपी के इस कदम से कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। लेकिन राम देवी ने कर्जमाफी जैसे बड़े भावनात्मक मुद्दे पर कमल नाथ सरकार की तारीफ करके संकेत दिए हैं कि वे जरूरत पड़ने पर कांग्रेस का साथ दे सकती हैं।