October 8, 2022

रायसेन में बीजेपी और शिवराज पर जमकर बरसे कमल नाथ कहा – विधायक बिकाऊ हैं, जनता नहीं

  • जनसभा को संबोधित करते हुए कहा – मैंने माफिया और मिलावट के खिलाफ आवाज उठाई, बीजेपी ने विधायक खरीद लिए।
  • अपनी सरकार की गिनाई उपलब्धियां।

मध्यप्रदेश में उपचुनाव से पहले मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ आज रायसेन पहुंचे था।  जहां उन्होंने सांची विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी मदन चौधरी के समर्थन में आमसभा को संबोधित किया। कमल नाथ ने कहा कि यह आम चुनाव या उपचुनाव नहीं है, यह चुनाव हमारे प्रदेश के भविष्य का चुनाव है नौजवानों के भविष्य का चुनाव है। शिवराज ने मध्यप्रदेश को कलंकित किया गया, बदनाम किया। मध्यप्रदेश के नए भविष्य की नीव रखनी चाही थी। हमने किसानों के हित के लिए 26 लाख किसानों का कर्जा माफ किया जिसे विधानसभा में शिवराज सरकार ने कबूल किया। मैंने माफिया के खिलाफ आवाज़ उठाई मैंने मिलावट के खिलाफ आवाज उठाई। लेकिन बीजेपी ने विधायक ख़रीद कर सरकार गिरा दी। 

कमल नाथ ने कहा कि शिवराज चौहान को मध्यप्रदेश की जनता ने 2018 में घर बैठा दिया था। मध्यप्रदेश में 15 महीने कांग्रेस की सरकार थी जिसमें 2 महीने आचार संहिता व 1 महीना सौदेबाज़ी में चला गया। मुझे केवल 12 महीने काम करने को मिला। जिसमें हमने मध्यप्रदेश के नए भविष्य की नीव रखनी चाही थी। हमने किसानों के हित के लिए 26 लाख किसानों का कर्जा माफ किया जिसे विधानसभा में शिवराज सरकार ने कबूल किया। कमल नाथ ने कहा कि मैने कौन सा पाप किया था? मैं तो मध्यप्रदेश की नई पहचान बनाना चाहता था। मैंने माफिया के खिलाफ आवाज़ उठाई मैंने मिलावट के खिलाफ आवाज उठाई। 

विधायक बिकाऊ हैं, जनता नहीं 

कमल नाथ ने जनसभा के दौरान कहा कि शिवराज जी आपने विधायक तो खरीद लिए पर मध्यप्रदेश की जनता बिकाऊ नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जनता ने ठान लिया है कि उसे क्या करना है, कांग्रेस का झंडा विधानसभा में लहराएगा।  इस दौरान उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि मोदी सरकार किसान विरोधी है साथ ही कहा कि केंद्र की मोदी सरकार किसान विरोधी बिल लायी है। वे मंडियों का निजीकरण करना चाहते हैं।

हीं सभा को संबोधित करते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी ने कहा कि इस चुनाव पर देश की नजरें है। यह एतिहासिक चुनाव है।जहां जनता उन 22 विधायकों को सबक सिखाएगी। साथ ही उन्होंने बीजेपी के पूर्व मंत्री गौरीशंकर शेजवार का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी ने उनके साथ अन्याय किया। उन्हें किनारे लगा दिया गया। उन्होंने कहा कि कमलनाथ किसान हितैषी हैं। उन्होंने शपथ लेते ही सबसे पहले किसानों के कर्जमाफी पर हस्ताक्षर किया।और किसानों का कर्जा माफ किया।

इस दौरान पूर्व मंत्री व विधायक पी.सी शर्मा,पूर्व सुखदेव पांसे,विधायक शशांक भार्गव,विधायक देवेंद्र पटेल आदि मौजूद थे।