November 29, 2022

28 सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए कांग्रेस का वचनपत्र तैयार, पिछडा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण एवं संविदाकर्मियों की नियुक्ति का वचन

मध्यप्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर होने वाले आगामी उपचुनाव को लेकर अपना वचनपत्र तैयार कर लिया है। कांग्रेस ने कोरोना से मरने वालों के परिजनों को नौकरी देने का वादा किया है। पार्टी ने इस वचन पत्र में कृषि और किसान, सिंचाई, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य, खेलकूद, पेयजल, सड़क पुल, उद्योग, रोजगार, पर्यटन, संस्कृति, प्रशासनिक ,तथा अन्य पिछडा वर्ग को 27 प्रतिशत आरक्षण से लेकर कई अन्य वादे किए है। 

कांग्रेस ने सभी 28 सीटों के लिए अलग-अलग मिनी वचन पत्र तैयार किया है जिसमें पूर्व की कमलनाथ सरकार की योजनाओं को भी शामिल किया है। वचनपत्र के मुताबिक घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को सौ यूनिट ₹100 बिल देने का वादा किया है। कर्मचारियों के बकाया डीए और वेतन वृद्धि जारी करने से लेकर अतिथि शिक्षकों के नियमितीकरण की भी बात कही गई है। 

प्रदेश की सभी गौशालाओं को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की तर्ज पर गौ धन सेवा योजना शुरू करने और गौ सेवकों की सेवाएं लेने का भी वादा वचनपत्र में शामिल किया गया है। इसके अलावा पार्टी के इस मैनिफेस्टो का मुख्य बिंदु यह है कि कोरोना संक्रमित मुखिया की मौत पर परिवार के एक सदस्य को संविदा नियुक्ति देने का भी वादा किया गया है। इसके अलावा फुटकर व्यापारियों को 50 हजार का ब्याज कर्ज मुक्त करने की और कोरोना संक्रमण को राजकीय आपदा घोषित करने का भी ऐलान पार्टी ने किया है।

मास्टरस्ट्रोक साबित हो सकता है यह मेनिफेस्टो

जानकारों की मानें तो कांग्रेस का यब वचनपत्र कई मायनों में अहम है और यह उपचुनाव के लिए कमलनाथ का मास्टरस्ट्रोक भी साबित हो सकता है। बात दें कि साल 2018 के विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस का वचनपत्र मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ था जिसमें किसानों की कर्जमाफी समेत कई अन्य वादे किए गए थे और कांग्रेस की 15 साल बाद सत्ता में वापसी हुई थी। पिछले चुनाव में मिली जीत के तर्ज पर ही प्रदेश कांग्रेस अब मिनी वचन पत्र के सहारे 28 सीटों को जीतने की कोशिश में जुटी है।