December 9, 2022

सीहोर किसान आत्महत्या केस में आया नया मोड़, जनसंपर्क विभाग ने मौत की वजह पत्नी से पारिवारिक विवाद बताई, पत्नी की मौत 25 साल पहले हुई

  • विधायक कुणाल चौधरी किसान के घर पहुंचे और परिजनों को दिलासा दिया।
  • नापलाखेड़ी में बुधवार को कर्ज के चलते नन्नूलाल ने घर में ही लगा ली थी फांसी।
  • जिला जनसंपर्क अधिकारी- गलती से बेटे की जगह पत्नी का नाम टाइप हो गया।

एक दिन पहले नापलाखेड़ी में 55 वर्षीय किसान नन्नूलाल वर्मा की आत्महत्या के मामले में नया मोड़ आया है। परिजनों का कहना था कि नन्नूलाल आठ लाख के कर्ज के साथ-साथ फसल खराब होने से परेशान थे। इसलिए उन्होंने आत्महत्या की, जबकि मामले में एसडीएम की तरफ से जनसंपर्क विभाग ने बयान जारी करते हुए कहा था कि नन्नूलाल का पत्नी से पारिवारिक विवाद चल रहा था। इसकी शिकायत उन्होंने पुलिस को भी थी। जबकि बड़े बेेटे संतोष वर्मा ने बताया कि मां की मौत तो 25 साल पहले हो चुकी है।

कलेक्टर अजय गुप्ता का कहना है कि किसान की मौत की खबर के बाद एसडीएम आदित्य जैन ने मौके पर जाकर प्रारंभिक जांच की थी। जिसमें पिता-पुत्र के बीच विवाद होने की बात भी सामने आई थी। किसान ने सीएसपी को आवेदन भी दिया था। एसडीएम आदित्य जैन का कहना है कि नन्नूलाल और उसके बेटे के बीच मंगलवार को झगड़ा हुआ था। उधर, कालापीपल के कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी गुरुवार को किसान के घर पहुंचे। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले में अधिकारियों द्वारा किसानों को दबाया जा रहा है।

गलती से बेटे की जगह पत्नी का नाम टाइप हो गया

जिला जनसंपर्क अधिकारी अनुभा सिंह ने बताया कि 30 सितंबर को जारी समाचार में टाइपिंग की त्रुटि सेे पुत्र के स्थान पर पत्नी लिख गया था।