April 14, 2024

मुख्यमंत्री शिवराज जनता के सामने आ कर रखें काम का हिसाब – पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

  • हाटपिपल्या में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की सभा।
  • कहा – जनता के सामने रखें 15 माह और 15 साल के काम का हिसाब।

हाटपिपल्या में पीसीसी चीफ कमलनाथ ने बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘मैं आपको खुली चुनौती देता हूं, आ जाइये जनता के सामने, मैं अपनी 15 महीने की सरकार का हिसाब देने को तैयार हूं, आप अपनी 15 वर्ष की सरकार का हिसाब जनता के सामने रखिये। कमलनाथ ने कहा कि मैंने सौदेबाजी की राजनीति नहीं की, यदि मैं भी सौदा करता तो आज प्रदेश में यह उपचुनाव नहीं होते।

कमलनाथ ने बीजेपी पर ध्यान भटकाने की राजनीति करने का आरोप लगाया। हाटपिपल्या में कमलनाथ पूछा कि क्या कोई बीजेपी नेता है जो स्वतंत्रता संग्राम सैनानी रहा हो। उन्होंने कहा कि बीजेपी सिर्फ ध्यान भटकाने की राजनीति करती है। जब उनसे रोजगार और किसानों की बात करो, तो वे उसकी बात नहीं करेंगे। बीजेपी नेता लोगों का ध्यान बांटने के लिए पाकिस्तान और चीन की बात करने लग जाते हैं। बीजेपी राष्ट्रवाद की बात करती है, लेकिन कोई यह भी बताए कि कोई बीजेपी का नेता है जो स्वतंत्रता संग्राम सेनानी हो।

बीजेपी अपने 15 साल के कार्यकाल का हिसाब जनता को दें

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कहा कि बड़ा ही आश्चर्य है कि शिवराज चौहान अपने 15 वर्ष के शासनकाल का तो हिसाब नहीं देते, लेकिन के कांग्रेस सरकार के 15 महीने की सरकार का हिसाब ज़रूर मांगते हैं। कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस सरकार को काम करने को सिर्फ साढ़े 11 महीने ही मिले हैं। 

कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की छवि बदलने की कोशिश की

हाटपिपल्या में राजवीर सिंह बघेल के पक्ष में सभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने बीजेपी पर चुनी हुई सरकार को सौदेबाजी करके गिराने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने प्रदेश की पहचान बदलने का काम किया। पहले प्रदेश की पहचान माफिया, मिलावटखोरों से होती थी, मैंने उसे बदलने को लेकर काम किय ,क्या यह मेरा गुनाह था?

कांग्रेस सौदेबाजी की राजनीति नहीं करती

कमलनाथ ने कांग्रेस सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि कांग्रेस ने किसानों का क़र्ज़ माफ़ किया।  प्रदेश में निवेश लाने का काम किया,युवाओं को रोजगार देने का काम किया, जनता को 100 रुपए में 100 यूनिट सस्ती बिजली प्रदान की। पिछड़ा वर्ग को 27% आरक्षण दिया, गौशाला बनाने का काम किया। कमलनाथ ने कहा कि कांग्रेस ने कभी सौदेबाजी नहीं की। यह कांग्रेस की संस्कृति और सिद्धांत नहीं है। अगर मैं भी सौदे की राजनीति करता तो आज प्रदेश में यह उपचुनाव नहीं होते।

 ‘कांग्रेस की सभा में आई भीड़ सरकारी नहीं है’

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष ने बीजेपी द्वारा सरकारी कर्मचारियों को सभा के लिए भीड़ जुटाने का टारगेट देने पर भी चुटकी ली। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सभा में आई भीड़ सरकारी भीड़ नहीं है, लाई हुई भीड़ नहीं है। यह तो अपनी मर्जी से आई हुई भीड़ है। बीजेपी पर आरोप लगाया की मुख्यमंत्री की सभाओं में अधिकारियों को भीड़ जुटाने का टारगेट दिया जाता है। बेचारे अधिकारी नौकरी बचाने के लिए शिवराज चौहान की सभाओं में भीड़ इकट्ठा कर रहे हैं।

किसानों की आत्महत्या, महिला अत्याचार में नंबर वन मप्र

बीजेपी के 15 साल के राज में मध्यप्रदेश किसानों की आत्महत्या में नंबर वन, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, महिलाओं पर अत्याचार में देश में नंबर वन था। उन्होंने कहा कि वर्तमान की सात महीने की सरकार में भी रोजना महिलाओं के साथ दरिंदगी और दुष्कर्म की घटनाएं घट रही हैं। बीजेपी के राज में किसानों का जन्म और मृत्यु कर्ज में ही हो जाती है।

कांग्रेस सरकार निभाएगी किसानों से किए वादे

कांग्रेस नेता ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने कृषि क्षेत्र में क्रांति लाने की शुरुआत की। देश के इतिहास में पहली बार कांग्रेस सरकार ने ना सिर्फ़ डिफाल्टर किसानों का कर्ज माफ किया। बल्कि चालू खाते वालों किसानों का भी कर्ज माफ किया। उन्होंने कहा कि 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया और आगामी 1 जून से हम किसानों का 2 लाख तक का भी कर्ज माफी का तीसरा चरण प्रारंभ करने जा रहे थे।

कमलनाथ ने जनता से अपील की है कि बीजेपी की झूठ और कलाकारी की राजनीति को पहचान लें, प्रदेश के नव निर्माण का संकल्प लें। उन्होंने अपील की है कि जनता कांग्रेस को जिताए और बीजेपी को सबक सिखाए। 

About Author