April 21, 2024

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में दलित महिला के साथ गैंगरेप की घटना

  • पुलिस ने शिकायत नहीं दर्ज की तो पीड़िता ने की आत्महत्या।
  • चौकी प्रभारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आदेश।

मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले में एक दलित महिला के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस द्वारा केस दर्ज नहीं करने के बाद पीड़िता ने खुदकुशी कर ली। वहीं, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले में संज्ञान लेते हुए चौकी प्रभारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस ने इस पूरे मामले में भाजपा सरकार पर हमला बोला है।

सख्त कार्रवाई के निर्देश

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एफआईआर नहीं लिखने वाले चौकी प्रभारी के खिलाफ मामला पंजीबद्ध कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं। वहीं, इस मामले में तत्काल प्रभाव से एडिशनल एसपी, एसडीओपी को हटाने के निर्देश दिए गए हैं। सीएम ने एसपी से मामले में स्पष्टीकरण मांगा है बताया जा रहा है कि एसपी फिलहाल छुट्टी पर चल रहे हैं। सीएम ने कहा- मध्यप्रदेश में माता बहनों के साथ अपराध किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। माता-बहनों के खिलाफ गलत काम करने वालों के खिलाफ किसी भी कीमत में नहीं छोड़ा जाएगा।

भाजपा शासित राज्यों में बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ नारो की ये है वास्तविकता? – पूर्व सीएम कमलनाथ

पूर्व सीएम कमलनाथ ने भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा- खरगोन , सतना , जबलपुर के बाद अब नरसिंहपुर के चिचली थाना के अंतर्गत एक गांव में एक दलित महिला से गैंगरेप की घटना होने पर पीड़िता की कोई सुनवाई नहीं हुई , उल्टा पीड़िता के परिजनों को ही प्रताड़ित करने की बात सामने आयी है। मजबूरी वश पीड़िता ने अपनी जान दे दी। भाजपा शासित राज्यों में बेटी बचाओ- बेटी पढ़ाओ नारो की ये है वास्तविकता? यूपी के साथ- साथ मध्यप्रदेश में भी बहन- बेटियों के साथ दरिंदगी-दुष्कर्म की घटनाएं निरंतर घटित हो रही हैं।

क्या है मामला ?

दरअसल, नरसिंहपुर जिले के एक गांव में गैगरेप पीड़ित एक दलित महिला ने खुदकुशी कर ली थी। पीड़िता के पति का आरोप था कि वो आरोपियों के खिलाफ थाने के चक्कर लगाते रहे लेकिन उनकी FIR नहीं लिखी गयी। महिला ने शुक्रवार सुबह घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतका के पति का आरोप है कि पत्नी के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था, वे इसकी रिपोर्ट लिखवाने के लिए तीन दिन से पुलिस के चक्कर लगा रहे थे। आरोपितों को गिरफ्तार करने की जगह पुलिस ने उन्हें ही हवालात में डाल दिया। यही नहीं छोड़ने के एवज में पुलिस ने रिश्वत ली। इस घटनाक्रम से व्यथित होकर महिला ने आत्महत्या कर ली। पति ने बताया कि महिला 28 सितंबर को चारा लेने गई थी उसी दौरान उसके साथ वारदात को अंजाम दिया गया। फिलहाल पुलिस मे तीन लोगों के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कर लिया है।

About Author