April 21, 2024

छतरपुर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने गांधी जयंती को ब्लैक डे के रूप में बनाया

भोपाल से 344 किलोमीटर दूर बुंदेलखंड के छतरपुर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कार्यकर्ता सहित छह लोगों के खिलाफ समुदायों में शत्रुता बढ़ाने के आरोप में केस दर्ज किया गया है। इन पर आरोप है कि गांधी जयंती को इन्होंने ‘ब्लैक डे’ के रूप में मनाया।  

छतरपुर के एसपी सचिन शर्मा ने कहा, ”धारा 153 A (धर्म, जाति, स्थान, जन्म, आवास, भाषा आदि के आधार पर समुदायों में शत्रुा बढ़ाने और सद्भाव को बिगाड़ने वाले काम) के तहत एफआईआर दर्ज कर ली गई है। छतरपुर निवासी राजेश अग्रवाल, प्रशांत महतो, पंकज पिपारिया और तीन अन्य लोगों को नामजद किया गया है।” हालांकि, अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

शर्मा ने बताया, ”मेहतो, अग्रवाल और पिपारिया ने तीन अन्य लोगों के साथ शुक्रवार को ब्लैक डे मानाया। उन्होंने छतरपुर शहर में आपत्तिजनक पोस्टर लगाए। इनमें गांधी जी के बारे में आपत्तिजनक शब्दों और झूठी बातों को लिखा गया था।” छतरपुर जिले के कांग्रेस प्रवक्ता और शिकायतकर्ता अभिषेक खरे ने कहा, ”ये लोग बीजेपी और इनके पैतृक संगठनों से हैं। ये इस तरह के आपत्तिजनक कॉमेंट्स के जरिए लोगों के बीच दुश्मनी बढ़ा रहे हैं। आरोपियों ने ना केवल दीवारों पर ये पोस्टर लगाए बल्कि सोशल मीडिया पर भी खूब शेयर किया, ताकि दो धर्मों के लोगों के बीच बंटवारा किया जा सके। 

खरे के आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी के छरपुर जिले के अध्यक्ष मलखान सिंह ने कहा, ”महात्मा गांधी हमारे आदर्श हैं। 2 अक्टूबर को ब्लैक डे माने की हम इजाजत नहीं दे सकते हैं और जिसने भी यह किया है हम उसकी निंदा करते हैं। मुझे आरोपियों के बीजेपी से जुड़े होने को लेकर जानकारी नहीं हैं, लेकिन यदि वे हमारी पार्टी का हिस्सा हैं तो हम उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करेंगे।

About Author