December 10, 2022

एक बार कोरोना का इलाज कराकर घर वापस जा चुके लोग दोबारा हो रहे संक्रमित

अगर आप एक बार कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और इलाज कराकर घर वापस जा चुके हैं तब भी आपको दोबारा संक्रमण का खतरा बना रह सकता है। देश में अब ऐसे मामले सामने आने लगे हैं जहां कोरोना संक्रमित एक व्यक्ति में दोबारा कोरोना के लक्षण देखे जा रहे हैं।

ऐसे ही दो मामले भोपाल से सामने आए हैं। भोपाल के हमीदिया अस्पताल में दो महिला डॉक्टर हैं, जो एक बार कोरोना होने के बाद दोबारा संक्रमण की चपेट में आई हैं। इन दोनों महिला डॉक्टरों का इलाज चल रहा था, जिसके बाद इनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई। 

निगेटिव रिपोर्ट आने के बाद दोनों महिलाओं को घर भेज दिया गया लेकिन जल्द ही उनकी तबीयत खराब बिगड़ गई। महिला डॉक्टरों ने दोबारा अपना कोरोना टेस्ट कराया तो पता चला कि उनमें दोबारा कोरोना वायरस मौजूद है। हालांकि दोनों ही महिलाएं दोबारा इलाज कराकर अपने घर वापस लौट चुकी हैं।

राज्य कोऑर्डिनेटर कोविड डॉ. लोकेंद्र दवे ने बताया कि प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीज की रिपोर्ट निगेटिव आने के दो ही मामले सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि कोविड रिटर्न में बीमारी की गंभीरता ज्यादा है। गांधी मेडिकल कॉलेज के एनीस्थीसिया विभाग की जूनियर डॉ. आराध्या (बदला हुआ नाम) 22 मई को पॉजिटिव होने के बाद हमीदिया में भर्ती हुईं। दस दिन इलाज कराने के बाद पांच जून को रिपोर्ट निगेटिव आई।

इसके बाद महिला की तबीयत बिगड़ी तो 24 जुलाई को दोबारा जांच कराई तो रिपोर्ट पॉजिटिव आई। दो अगस्त को इलाज कराने के बाद फिर रिपोर्ट कराई, जो निगेटिव आई। पांच अगस्त को महिला को अस्पताल से छुट्टी मिल गई। 

इसके अलावा गांधी मेडिकल कॉलेज से एमडी कर रहीं डॉक्टर निशा (बदला हुआ नाम) की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर वो 18 जुलाई को अस्पताल में भर्ती हो गईं। एक दिन बाद ही वो होम आइसोलेशन में भर्ती हो गईं और दो अगस्त को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई। 

एक बार कोरोनादस सितंबर को महिला की फिर तबीयत बिगड़ी। कोरोना टेस्ट कराया तो पता चला कि वायरस की चपेट में है। महिला का अस्पताल में इलाज चलता रहा और उसके बाद 27 सितंबर को उनकी दोबारा कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई।