February 26, 2024

कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा में आए मांधाता के भाजपा प्रत्याशी नारायण पटेल को झेलना पड़ रहा चौतरफा विरोध

  • विरोध के कारण सांसद नंदकुमार सिंह चौहान को अपना भाषण बीच में खत्म करना पड़ा।
  • सांसद नंद कुमार सिंह चौहान के सामने गुराडिया गांव में लोगों ने कमलनाथ के जयकारे लगाए।

खंडवा की मांधाता विधानसभा सीट के लिए भी 3 नवंबर को मतदान है। चुनाव के इस माहौल में सीएम शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को यहां के दौरे पर हैं। चुनाव प्रचार के लिए आ रहे शिवराज सिंह की नज़र पार्टी के असंतुष्टों पर भी है। वह जनसभा के बाद इन लोगों से अलग से चर्चा करने वाले हैं. हालांकि, इसे गोपनीय रखा गया है।

उपचुनाव की घोषणा के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान गुरुवार को मांधाता विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं। यहां वह बुखारदास बाबा मैदान पर जनसभा को संबोधित करेंगे। इसके साथ-साथ भाजपा में बगावती तेवर अपनाने वाले और भितरघात करने वाले कार्यकर्ताओं से मुख्यमंत्री खुद बैठक कर बात करेंगे। हालांकि, यह बैठक गोपनीय रखी गई है।

सीएम से मिलेंगे असंतुष्ट

भाजपा नेता ऐसे लोगों को मुख्यमंत्री से सीधा संवाद करवा रहे हैं जो पार्टी प्रत्याशी नारायण पटेल का अंदरूनी तौर पर विरोध कर रहे हैं। इससे भाजपा को हार का खतरा सता रहा है। जगह-जगह नारायण पटेल का विरोध होने के कारण भाजपा के लिए यह सीट प्रतिष्ठा का मुद्दा बन गयी है। लिहाजा सांसद नंद कुमार सिंह चौहान के लिए भी इस सीट को जिताना चुनौतीपूर्ण है। यहां आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री की 4 सभाएं करवाने का प्लान है।

नारायण पटेल का विरोध

दरअसल इस विरोध को सियासी कह लें या जनता के दिए जनाधार का आक्रोश, दोनों ही बात फिट बैठती है। मांधाता के मोहद गांव में रात्रि सभा करने गए सांसद नंद कुमार सिंह चौहान के भाषण और वादों को जनता सुनना नहीं चाह रही थी। नौबत ये आ गयी की कार्यकर्ताओं के बीच झूमा झटकी जैसी स्थिति पैदा हो गयी। सांसद नंद कुमार को अपना भाषण बीच में ही खत्म करना पड़ा।

महिलाओं ने किया था विरोध

इसके पहले भी कई गांव में महिलाओं ने नारायण पटेल को घेर कर विरोध किया था। इतना ही नहीं सांसद नंद कुमार सिंह चौहान के सामने गुराडिया गांव में कमलनाथ के जयकारे भी लोगों ने लगाए। इन घटनाक्रम से साफ प्रतीत हो रहा है कि सांसद और नारायण पटेल के खिलाफ लोगों में किस कदर आक्रोश है। हालांकि, नारायण पटेल ने इन विरोधों को दरकिनार कर दिया है।

About Author