April 14, 2024

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने छिंदवाड़ा की तर्ज पर सागर के विकास का किया वादा, पारुल साहू को जिताने की अपील की

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सबसे बड़ा नाटकबाज़ हैं और अगर वे मुंबई चले जाएं तो शाहरुख और सलमान को भी मात दे सकते हैं। शिवराज सिंह चौहान पर ये तीखा हमला प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सागर के सुरखी में आयोजित चुनावी जनसभा में किया। उन्होंने सुरखी विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी पारुल साहू को भारी मतों से जिताने की अपील भी की। कमलनाथ ने ये वादा भी किया कि प्रदेश में दोबारा कांग्रेस की सरकार बनी तो सागर का विकास छिंदवाड़ा की तर्ज पर किया जाएगा। 

कमलनाथ ने कहा कि नाटकबाज शिवराज आजकल जनता को लुभाने के लिए मंचों पर लेट जाते हैं। दंडवत करने लगते हैं, बिल्कुल शरणागत हो जाते हैं, वे एक मंझे हुए कलाकार हैं, अगर शिवराज सिंह मुंबई जाते हैं तो एक्टिंग के मामले में सलमान और शाहरुख को भी मात दे सकते हैं। शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार ने प्रदेश की जनता को 15 साल तक छला है।

कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में युवाओं को रोजगार देने, मध्य प्रदेश में निवेश लाने, मिलावट माफिया के खिलाफ शुद्ध के लिए युद्ध अभियान चलाया गया। कांग्रेस सरकार ने प्रदेश में भू माफिया पर रोक लगाने और प्रदेश की सकारात्मक छवि बनाने की कोशिश की। कांग्रेस ने किसानों का कर्ज माफ किया, प्रदेश में एक रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली देने का काम किया।

उन्होंने कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने वाले गोविंद सिंह राजपूत को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि गोविंद सिंह की दबाव वाली राजनीति भी समाप्त होने वाली है। कांग्रेस तोड़ने की नहीं जोड़ने की राजनीति में भरोसा करती है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सुरखी में हुई चुनावी सभा की तस्वीरें और वीडियो ट्विटर पर शेयर किए हैं, जिनमें कमलनाथ को सुनने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ती नज़र आ रही है। 

सुरखी की इस चुनावी सभा में मौजूद पूर्व मंत्री अजय सिंह ने भी गोविंद सिंह राजपूत पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि गोविंद राजपूत ने अपनी ज्ञानोदय कंपनी को 130 करोड़ का काम दिलवाया और गैरकानूनी तौर पर 25 एकड़ जमीन किसी महिला को आवंटित कर दी। इस मौके पर सुरखी विधानसभा क्षेत्र प्रभारी विधायक लखन घनघोरिया भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि सुरखी की जनता ने भय और अहंकार के खिलाफ वोट डालने का मन बना लिया है।

About Author