April 14, 2024

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में लिखा – मंडी शुल्क में सम्मिलित राशि के लिए बजट व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे

पूर्व सीएम कमलनाथ, दिग्विजय सिंह एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचोरी ने कांग्रेस के वचनपत्र का विमोचन किया। वचन पत्र में कोरोनावायरस परिवारों को आर्थिक सहायता और मुआवजे का वादा। 28 विधानसभा क्षेत्रो के लिए अलग वचन पत्र भी बनाया गया है। इस अवसर पर कमलनाथ ने कहा की 28 विधानसभाओं के लिए अलग वचन पत्र भी बनाया गया है। पिछले वचन पत्र में शामिल थे 974 मुद्दे शामिल थे। हमने 15 महीने की सरकार में 574 वचन पूरे किये है। जनता इस बात की गवाह है। हम मप्र के विकास के लिए आगामी तीन सालों का विकास का रोडमेप बना रहे है।

मंडी शुल्क में सम्मिलित राशि के लिए बजट व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में लिखा है कि शिवराज सरकार ने समाज के निराश्रित, अनाथ, असहाय महिलाओं एवं दिव्यांगों के कल्याण कार्यक्रमों को संचालित करने वाली मंडी शुल्क में सम्मिलित राशि को बंद कर दिया है हम इनके कार्यक्रम सुचारू रूप से चले जिसके लिए बजट व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने वचन पत्र में गोवर्धन सेवा योजना, कोरोना से मृत लोगों के परिवार के लिए पेंशन, कोरोना को राज्यस्तरीय आपदा घोषित करने जैसे वचन शामिल किए हैं। इसके अलावा, यदि किसी परिवार के मुखिया की कोरोना की वजह से मौत हो जाती है तो उसके परिवार के किसी एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की भी बात कही गई है। साथ ही किसानों की कर्ज माफी को पूरा करने और गेस्ट टीचर्स को नियमित करने का भी वादा किया गया है। बता दें कि गेस्ट टीचर्स कई सालों से नियमित करने की मांग कर रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होने के कारण प्रदेश की तत्कालीन कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई थी, जिसके कारण कमलनाथ ने 20 मार्च को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

About Author