November 28, 2022

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा – शिवराज सिंह के आंख और कान भले न चलते हों लेकिन मुंह चलता है

जैसे जैसे उपचुनाव में मतदान की तारीख करीब आ रही है वैसे वैसे कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी हमले तेज हो रहे हैं। खास तौर पर कमलनाथ और शिवराज सिंह चौहान एक दूसरे पर जमकर निशाना साधना अपनी किसी भी सभा में नहीं भूलते। शनिवार को मेहगांव के अंतर्गत अमायन में कृषि उपज मण्डी में सभा को संबोधित करते हुए कमल नाथ ने कहा कि शिवराज सिंह के आंख और कान भले न चलते हों लेकिन मुंह चलता है इसलिए वे बस आते हैं और घोषणा कर के निकल जाते हैं। 

दरअसल क्षेत्र के लोग अमायन को तहसील बनाने की मांग लंबे से कर रहे हैं। अमायन सर्कल में तकरीबन 65 हज़ार वोटरों की संख्या है। पिछले महीने अपनी एक सभा में शिवराज सिंह चौहान ने अमायन को जल्द से जल्द तहसील बनाने की घोषणा की थी। लेकिन इसके बाद पूरा काम काज ठंडे बस्ते में चला गया। कमल नाथ ने शिवराज की इसी घोषणा पर तंज कसा। कमल नाथ ने कहा कि वे सरकार में आने के दस दिन के भीतर अमायन को तहसील बना देंगे। 

हेमन्त कटारे को खुद बुलाकर दिया टिकट: कमलनाथ

कमल नाथ ने मेहगांव से कांग्रेस प्रत्याशी हेमन्त कटारे की उम्मीदवारी का खुलासा करते हुए कहा कि ‘हेमन्त यहां से चुनाव लड़ना नहीं चाहते थे लेकिन मैंने खुद हेमन्त को अपने पास बुलाकर चुनाव लडने के लिए कहा। हेमंत ने कहा कि आप मेरी किसी भी सीट पर ड्यूटी लगा दें। मैंने इसके बाद हेमन्त को मेहगांव से चुनाव लड़वाने की ठान ली। ताकि आपके क्षेत्र को एक कर्मठ, जुझारू समाजसेवक दे सकूं।’

भाषण में सिंधिया का एक बार भी ज़िक्र नहीं 

कमल नाथ अमायन में कुल बीस मिनट तक बोले। लेकिन एक दफा भी ज्योतिरादित्य सिंधिया का ज़िक्र नहीं किया। कमल नाथ ने अपने पूरे भाषण में शिवराज पर निशाना बनाए रखा और उन पर जमकर हमला बोला। लेकिन अपनी र गिराने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम तक कमल नाथ ने नहीं लिया।