November 29, 2022

पूर्व सीएम कमलनाथ ने महिलाओं-बच्चियों के साथ दरिंदगी की घटनाओं को लेकर शिवराज सरकार पर साधा निशाना

  • कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा- जहरीली शराब की तरह बेटियों के साथ हो रही दरिंदगी पर भी अफसरों की जिम्मेदारी तय हो।

प्रदेश में महिलाओं-बच्चियों के साथ दरिंदगी की घटनाओं को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया। नाथ ने सोशल मीडिया पर लिखा है, ‘मध्य प्रदेश में बहन, बेटियों से दरिंदगी की घटनाएं निरंतर जारी हैं। बहन-बेटियां अपनी सुरक्षा चाहती हैं, लेकिन कभी पूजन तो कभी उनकी उम्र के नाम पर गुमराह किया जा रहा है।

दरअसल, मप्र में पिछले 9 माह में 7 हजार से अधिक बच्चियां लापता हो चुकी हैं। 12 जनवरी को शिवराज सिंह चौहान का बयान आया था। इसमें उन्होंने राय व्यक्त की थी कि देश में लड़कियों की शादी की उम्र 18 साल से बढ़ाकर 21 साल कर देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह बहस का विषय होना चाहिए और देश-प्रदेश को इस बात पर चिंतन करना चाहिए।

गौरतलब है कि सीधी, खंडवा, उमरिया और बैतूल के बाद अब इंदौर में हैवानियत की घटना सामने आई हैं। इसमें अपहरण के बाद छात्रा से गैंगरेप और फिर बाेरे में बंद कर जलाने की कोशिश की गई।

कमलनाथ ने इन घटनाओं पर चिंता जाहिर करते हुए लिखा है- ‘सीधी, खंडवा, उमरिया और बैतूल जिले की सारणी की वीभत्स घटनाओं के बाद अब इंदौर की घटना ने प्रदेश को शर्मसार किया है। जो विपक्ष में बैठकर बहन-बेटियों की सुरक्षा को लेकर लंबे-चौड़े भाषण देते थे। धरना करते थे, वो आज इन घटनाओं पर मौन हैं?’

इसी तरह प्रदेश में पिछले 9 महीने में जहरीली शराब से 46 लोगों की मौत हो चुकी है। मुरैना में 10 जनवरी को हुई घटना में 26 लोगों की मौत हुई। ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए मुख्यमंत्री ने 19 जनवरी को सख्त निर्देश दिए थे। उन्होंने कहा था कि यदि भविष्य में इस तरह की घटनाएं हुईं तो जिम्मेदारों का कॅरिअर तबाह कर दूंगा।

मुख्यमंत्री के इस बयान बाद कमलनाथ ने सवाल किया, ‘पता नहीं कब नींद से जागेगी सरकार और बहन-बेटियों को सुरक्षा प्रदान करने को लेकर कड़े कदम उठाएगी? जहरीली शराब की तरह ही बहन-बेटियों से दरिंदगी की घटनाओं पर अफसरों की जिम्मेदारी तय हो।’